मुख्यपृष्ठनए समाचारफडणवीस ‘सुपर सीएम', शिंदे केवल चेहरा! ...दादा की ‘दादागीरी' पर भी अंकुश-कांग्रेस...

फडणवीस ‘सुपर सीएम’, शिंदे केवल चेहरा! …दादा की ‘दादागीरी’ पर भी अंकुश-कांग्रेस का कटाक्ष

सामना संवाददाता / मुंबई
राज्य की तिगड़ी सरकार में अंतर्विरोध है। यह स्पष्ट हो गया है। एक मुख्यमंत्री और दो उप मुख्यमंत्री में बीच अधिकार को लेकर स्पर्धा शुरू है। अजीत पवार की ‘दादागीरी’ का अनुभव महाविकास आघाड़ी सरकार में हुआ है। परंतु वर्तमान में उनकी ‘दादागीरी’ पर अंकुश लग गया है। राज्य में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे केवल एक चेहरा हैं। ‘सुपर सीएम’ देवेंद्र फडणवीस हैं, यह बात कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कल मीडिया से बातचीत के दौरान कही। राज्य सरकार में मलाई को लेकर लड़ाई शुरू है। राज्य में अकाल की स्थिति है। पीने का पानी नहीं है। महंगाई आसमान छू रही है, बेरोजगारी चरम पर है। सरकार के तीनों दलों में वर्चस्व की लड़ाई शुरू है, ऐसा भी पटोले ने कहा। उन्होंने कल व्यंग्य भरे लहजे में कहा कि उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस महाराष्ट्र के ‘सुपर सीएम’ हैं। उन्होंने भाजपा के वरिष्ठ नेता (फडणवीस) के हाथों से होते हुए फाइलें मुख्यमंत्री के पास पहुंचाए जाने के सरकार के हालिया कदम पर टिप्पणी करते हुए उक्त बातें कहीं। पटोले ने मुख्य सचिव मनोज सौनिक द्वारा सभी विभागों को दिए गए निर्देश की पृष्ठभूमि पर मीडिया से बोल रहे थे। निर्देश में कहा गया है कि अजीत पवार के बाद फाइलों को मंजूरी के लिए सीधे मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को भेजने से पहले फडणवीस के पास भेजा जाए।

अन्य समाचार

लालमलाल!