मुख्यपृष्ठनए समाचारमहाराष्ट्र भाजपा में परिवारवाद! ...मंत्री गावित की कन्या केंद्रीय योजना की लाभार्थी,...

महाराष्ट्र भाजपा में परिवारवाद! …मंत्री गावित की कन्या केंद्रीय योजना की लाभार्थी, सचिन सावंत ने सरकार पर बोला जोरदार हमला

सामना संवाददाता / मुंबई
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सार्वजनिक तौर पर कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना के परिवारवाद की आलोचना की थी। उन्होंने एक सार्वजनिक सभा में आरोप लगाया था कि इन तीनों पार्टियों के नेता अपने बेटे-बेटियों के लिए राजनीति कर रहे हैं और फायदा उठा रहे हैं, लेकिन मोदी की भारतीय जनता पार्टी के महाराष्ट्र के आदिवासी विकास मंत्री डॉ. विजय कुमार गावित इसके अपवाद बन गए हैं, ऐसा आरोप सचिन सावंत ने लगाया है। डॉ. गावित की बेटी सुप्रिया गावित की संस्था को कृषि प्रसंस्करण उद्योग के लिए दस करोड़ रुपए का अनुदान मंजूर किया गया, यह परिवारवाद नहीं है क्या? ऐसा सवाल कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने उपस्थित किया है। एग्रो प्रोसेसिंग क्लस्टर इस योजना के तहत किसानों या छोटे उद्योग के लिए कृषि प्रक्रिया उद्योग के क्लस्टर तैयार करने के लिए केंद्रीय अन्न प्रक्रिया उद्योग मंत्रालय की एक योजना है। इस योजना के तहत देशभर के ७० कृषि प्रक्रिया उद्योग कंपनी के लिए केंद्र ने क्लस्टर मंजूर किया है। इस योजना के तहत महाराष्ट्र की तेरह कंपनियों को करोड़ों रुपए का अनुदान मंजूर किया गया है। कांग्रेस नेता सचिन सावंत ने इस सूची में शामिल कंपनियों पर उंगली उठाते हुए भाजपा के परिवारवाद पर निशाना साधा है। सचिन सावंत ने कहा कि आदिवासी विकास मंत्री डॉ. विजय कुमार गावित की कन्या सुप्रिया गावित ने रेवा तापी व्हॅली इंडस्ट्रीयल डेवलपमेंट कंपनी द्वारा प्रस्तुत किए गए २७ करोड़ ६ लाख रुपए खर्च में केंद्र सरकार ने दस करोड़ रुपए अनुदान मंजूर किया है। सचिन सावंत ने कहा कि एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विपक्षी नेताओं पर परिवारवाद का आरोप लगाते हैं तो दूसरी तरफ भोपाल में एक सार्वजनिक सभा में मोदी ने राकांपा नेता शरद पवार की आलोचना करते हुए भाई-भतीजावाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था, लेकिन इस भाषण के तीसरे दिन शरद पवार के भतीजे अजीत पवार पार्टी के कई विधायकों के साथ महाराष्ट्र की ईडी सरकार में शामिल हो गए। सचिन सावंत का कहना है कि अन्य दलों के नेता परिवारवाद करते हैं और भाजपा के नेता, मंत्री अपने बच्चों को राजनीतिक और वित्तीय सहायता प्रदान करते हैं, यह परिवारवाद नहीं है क्या?

अन्य समाचार