किसान आंदोलन

तुम किसानों के लिए ड्रोन विमान भेजे।
हम उनके लिए पतंग उड़ाए।
तुमने आंसू गैस के गोले बरसाए।
हमने हवा का रुख बदलाए।
तुमने हमें रोकने को राहों में कील ठुकवाए।
हमने खेतों में फसल उगवाए।
तुम सब राजनीति की रोटी सेंकने के लिए।
जवान और किसान को आपस मे लड़वाए।
यह देख भारत माता भी दुखित हो जाए।
देश के जवान और किसान को
आपस में लड़ाते हो दुष्टों
ऐसे नेताओं का सर्वनाश हो जाए।

परमानंद वर्मा, छत्तीसगढ़

अन्य समाचार