मुख्यपृष्ठस्तंभकेंद्र को दिखा हार का डर ...अब महंगाई पर काबू करने की...

केंद्र को दिखा हार का डर …अब महंगाई पर काबू करने की आई सुध

 जब जनता हो गई बेहाल

जितेंद्र मल्लाह
मुंबई

२०१९ में केंद्र की सत्ता में दोबारा लौटने के बाद केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्ववाली भाजपाई सरकार ने आम जनता को उपेक्षित छोड़ दिया। जनता पहले ही महंगाई और बेरोजगारी से त्राहि-त्राहि कर रही थी उस पर कोरोना में लगे लॉकडाउन ने बेहाल लोगों की कमर तोड़ने का काम किया। पेट्रोल-डीजल व दूसरे तमाम र्इंधनों सहित खाद्य तेल, दूध, दाल, चावल, आटा, सब्जी आदि सभी चीजों के दाम आसमान छूने लगे हैं। सामान्य जनता के लिए दो जून की रोटी का जुगाड़ भी मुश्किल हो गया है। जिस रसोई गैस सिलिंडर के दाम ४५० होने पर मोदी के नेतृत्व में पूरी भाजपा सड़क पर उतर कर हाय-तौबा मचाती थी, उसी सिलिंडर के दाम करीब सालभर पहले १,१०० के पार पहुंच गए लेकिन केंद्र सरकार सहित पूरी भाजपा कान में तेल डाले बैठी रही है। केंद्र सरकार रामंदिर, अनुच्छेद ३७०, पुलवामा, हिजाब, हलाल, हनुमान चालीसा और मस्जिदों के भोंगे जैसे मामलों में उलझाकर धर्म और राष्ट्रवाद का चूरन चटाने में लगी रही, लेकिन कुछ महीने पहले हुए कर्नाटक चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद मोदी सरकार की कुंभकर्णी नींद टूटी है।
वैसे तो देश में मीडिया की आजादी लगभग खत्म ही हो गई है। लोग केंद्र सरकार और भाजपा की खुशामद करके अपना अस्तित्व बचाए रखने का प्रयासभर कर रहे हैं। वर्ष २०२४ में भाजपा के जाने की बात वैसे तो अभी तक सभी रहे हैं लेकिन इस सच्चाई से साक्षात्कार होने के बाद भी कोई भी एजेंसी चुनाव पूर्व सर्वे की रिपोर्ट खुल कर रखने की हिम्मत अबतक नहीं दिखा पाई है। समय-समय पर विभिन्न एजेंसियों द्वारा कराए गए सर्वे में वैसे तो एनडीए के मजबूत होने की बात कही जा रही है लेकिन अंतत: भाजपा के ही मजबूत होने का एलान करने की उनकी मजबूरी भी देखने को मिलती रही है। हालांकि सियासी गलियारे में ऐसी चर्चा जोरों पर चल रही है कि आंतरिक सर्वे में भाजपा को झटका लगने की बात पता चलने के बाद अब भाजपा महंगाई को लेकर गंभीर होने का प्रयास कर रही है।
रक्षाबंधन से एक दिन पहले केंद्र की मोदी सरकार ने घरेलू गैस सिलिंडर की कीमतों में २०० रुपए की कटौती करने का एलान किया। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ (पूर्व ट्विटर) पर अपनी बात रखते हुए पीएम मोदी ने दावा किया कि सिलिंडर की कीमत कम होने से मेरी बहनों का जीवन और भी आसान होगा, बहनों को सहूलियत होगी। पीएम मोदी की इन सियासी दावों को देश की जनता अब भली भांति समझने लगी है। इसलिए बहनों की सुध इतने देर से क्यों ली, ऐसे सवाल भी लोग पूछने लगे हैं।
अनाज पर आई ऐतिहासिक महंगाई
गौरतलब हो कि देश में अनाज की कीमतों ने आम लोगों की जेब को ढीली करने का काम किया है। चावल की कीमतें कई वर्षों के उच्चांक पर पहुंच गई हैं। चावल की कीमतों में जोरदार तेजी देखने मिल रही है। भाव लगभग १२ साल के अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। एक रिपोर्ट के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) ने कहा- ‘एफएओ का कुल चावल प्राइस इंडेक्स जुलाई में एक महीने की तुलना में २.८ फीसदी बढ़कर औसतन १२९.७ अंक हो गया। यह पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में लगभग २० प्रतिशत अधिक है और सितंबर २०११ के बाद से ये चावल का उच्चतम स्तर है। इसी तरह से गेहूं के दाम में भी इजाफा देखने को मिला है। उसकी कीमतें ६ से ७ महीने के हाई पर पहुंच गई हैं। यही हाल गेहूं का भी रहा है। बीते सप्ताह भर में ही गेहूं के दाम १०० रुपए क्विंटल से ज्यादा बढ़ चुके हैं।
देर से जागी सरकार
पिछले दिनों टमाटर व दूसरी सब्जियों के दाम देश में बढ़ने से लोगों का खाना महंगा हो गया। ऐसे में इस महंगाई को कंट्रोल और आम लोगों को राहत देने के लिए अपना प्लान बना लिया है। कल रसोई गैस सिलिंडर के दाम घटाने से पहले सरकार ने खुले बाजार में गेहूं और चावल की सप्लाई बढ़ाने का एलान किया। केंद्र सरकार ने बासमती चावल को छोड़कर सभी तरह के कच्चे चावल के निर्यात पर बैन लगाया है। इसी तरह केंद्र सरकार ने बुधवार को अतिरिक्त ५ मिलियन टन गेहूं और २.५ मिलियन टन चावल खुले बाजार में उतारने का पैâसला किया। महंगाई पर काबू पाने के लिए सरकार ने खुली बिक्री योजना के लिए चावल का रिजर्व प्राइस भी २०० रुपए घटाकर २,९०० रुपए प्रति क्विंटल कर दिया है।

लालू ने मोदी को ललकारा
राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व रेलमंत्री और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर ऐसा बयान दे दिया है, जिसपर बड़ा हंगामा होना तय है। उन्होंने कहा- ‘मुंबई में नरेंद्र मोदी के नट्टी (गर्दन) पर चढ़ने जा रहे हैं हमलोग आज के दिन। नरेंद्र मोदी के नट्टी पकड़े हुए हैं, हटाना है।’ लालू ने मुंबई में होने वाली ‘इंडिया’ गठबंधन की बैठक के लिए मुंबई रवाना होने से पहले यह बातें पटना एयरपोर्ट पर कही। साथ में बिहार के डिप्टी सीएम और उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव भी थे।

अन्य समाचार