मुख्यपृष्ठनए समाचारयातायात के नियमों का उल्लंघन करने वालों से वसूला 38 लाख रुपए...

यातायात के नियमों का उल्लंघन करने वालों से वसूला 38 लाख रुपए का जुर्माना

राधेश्याम सिंह

वसई। वाहन चालक ई-चालान कार्रवाई का जुर्माना नहीं भर रहे थे। जिससे करोड़ों रुपए का जुर्माना बकाया हो गया। बकाए जुर्माने को वसूलने के लिए ट्रैफिक पुलिस ने लोक अदालत में जाकर नोटिस जारी किया। वसई-विरार में 7 हजार 423 वाहन चालकों ने करीब 38 लाख 46 हजार का जुर्माना भर दिया है। वसई-विरार ट्रैफिक डिवीजन परिमंडल 2 और 3 के माध्यम से यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाती है। दंडात्मक कार्रवाई को लेकर ट्रैफिक पुलिस और नागरिकों के बीच अक्सर विवाद होते रहते थे। इस प्रकार की रोकथाम के लिए ई-कैश प्रणाली लागू कर इलेक्ट्रॉनिक रूप में कार्यवाही की गई है। इस ई-चालान मशीन के माध्यम से यातायात नियमों का उल्लंघन करनेवाले वाहन चालकों के खिलाफ कार्रवाई की जाती है। अब ऑनलाइन प्रक्रिया के कारण कई वाहन चालक जुर्माना भरने में लापरवाही कर रहे हैं। इसका असर यातायात विभाग पर पड़ रहा है, इसके चलते ट्रैफिक विभाग का करोड़ों रुपए का जुर्माना बकाया रह गया है।

ट्रैफिक पुलिस अक्सर यह जुर्माना भरने की सलाह देती है। वाहन चालक जुर्माना भरने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। इन मामलों को ट्रैफिक पुलिस के माध्यम से लोक अदालत में रखा जा रहा है। हाल ही में 9 सितंबर को वसई में नेशनल पीपुल्स कोर्ट का आयोजन किया गया था। ट्रैफिक पुलिस ने ऑनलाइन वसूले गए ई-चालान दावों को निपटाने के लिए वाहन चालकों को एसएमएस के जरिए कोर्ट नोटिस भेजा था। लेकिन नोटिस हाथ में आते ही कई वाहन मालिक लोक अदालत में जाने से पहले जुर्माना भरने के लिए दौड़ पड़े,1 से 9 सितंबर की अवधि के दौरान, वसई में 5 हजार 646 वाहन चालकों द्वारा 27 लाख 49 हजार 200 रुपए का जुर्माना और विरार यातायात विभाग में 1 हजार 777 मामलों में 10 लाख 96 हजार 800 रुपये का जुर्माना भरा गया। यातायात विभाग के अनुसार। इस साल वसई विरार में जनवरी से अगस्त के बीच ई-चालान के 19000 से ज्यादा मामलों में डेढ़ करोड़ का जुर्माना बकाया था, लोक अदालत द्वारा करीब 38 लाख का जुर्माना वसूला गया है,फिर भी 1 करोड़ रुपये का जुर्माना अभी भी बकाया है।

अन्य समाचार