मुख्यपृष्ठनए समाचार‘पहले जेल, बाहर आए तो खेल'! ...अखिलेश यादव ने साधा धनंजय सिंह...

‘पहले जेल, बाहर आए तो खेल’! …अखिलेश यादव ने साधा धनंजय सिंह पर निशाना

भाजपा को समर्थन देने पर समर्थक भी नाराज
सामना संवाददाता / जौनपुर
लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में नेताओं द्वारा प्रचार के दौरान एक-दूसरे पर आरोपों के बाण चलाए जा रहे हैं। इसी क्रम में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बाहुबलि धनंजय सिंह द्वारा भाजपा का समर्थन करने पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि पहले जेल और बाहर आए तो खेल हुआ, यह पूरी तरह से सुनियोजित है। यह खेल सभी लोग समझते हैं। बसपा और भाजपा ने अंदर ही अंदर हाथ मिला रखा है यही बात आपको समझने और सावधान करने के लिए मैं जौनपुर में आया हूं। अखिलेश यादव जौनपुर के प्रत्याशी बाबू सिंह कुशवाहा के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करने के लिए पहुंचे थे।
उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में वैसे तो कई लोकसभा सीटें हैं, मगर इन दिनों जौनपुर सीट सुर्खियों में है। चर्चा होने का कारण जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह हैं। दरअसल, चुनाव की तारीखों के एलान के बाद धनंजय सिंह ने जौनपुर से चुनाव लड़ने की बात कही। फिर चर्चा यह चली कि वो कौनसी पार्टी से चुनाव लड़ेंगे। अटकलें लगाई गर्इं कि उन्होंने सपा से टिकट की मांग की, पर उन्हें प्रत्याशी नहीं बनाया गया। इस बीच धनंजय सिंह को जेल हो गई और इसी दौरान बसपा ने उनकी पत्नी श्रीकला को टिकट दे दिया। जब धंनजय जमानत पर बाहर आए तो बसपा ने श्रीकला का टिकट काट दिया और धनंजय सिंह ने फिर भाजपा को समर्थन देने का ऐलान कर दिया। अब इस पूरे घटनाक्रम पर सपा चीफ अखिलेश यादव ने धनंजय सिंह का नाम लिए बिना तंज के तीर चलाए हैं।
धनंजय की बात नहीं मानेंगे समर्थक
लोकसभा चुनाव के बीच एक बड़े नेता ने धनंजय सिंह को लेकर बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा कि उनका वोट कभी बीजेपी के साथ नहीं जाएगा। जौनपुर से पूर्व सांसद धनंजय सिंह की पत्नी का टिकट कटने के बाद उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को समर्थन देने का एलान किया है। धनंजय सिंह बीजेपी उम्मीदवारों के समर्थन में चुनाव प्रचार भी कर रहे हैं। माना जा रहा है कि इससे बीजेपी की राह आसान हो गई है और समाजवादी पार्टी को नुकसान होगा। इस मामले पर सपा सांसद राम गोपाल यादव ने जवाब दिया है।
सपा सांसद ने एक साक्षात्कार में धनंजय सिंह को लेकर खुलकर बात की और जौनपुर में सपा की जीत का दावा किया। उन्होंने कहा, ‘लोग धनंजय सिंह को समझ ही नहीं सकते हैं। धनंजय सिंह का सारा वोट समाजवादी पार्टी में जाएगा। जिस तरह से धनंजय सिंह को चुनाव लड़ने से विड्रॉ करने के लिए विवश किया गया। कोई भी बीजेपी को सपोर्ट नहीं कर सकता।’
धनंजय सिंह को लेकर किया दावा
वहीं राम गोपाल यादव ने कहा, ‘धनंजय सिंह की बात छोड़िए उनकी जगह और कोई भी होता वो भी वोट नहीं करता। आप जबरदस्ती सत्ता के लिए किसी को कहो कि विड्रो करो नहीं तो ऐसा कर देंगे तो क्या वोट दे देगा? अब वो दे भी दे, लेकिन उनके समर्थक वोट नहीं देंगे। एक आदमी का एक ही वोट होता है। वो सब सपा को वोट देने जा रहे हैं और बाबू सिंह कुशवाहा बड़े मार्जिन से चुनाव जीतने जा रहे हैं। वो (कृपाशंकर सिंह) मुंबई से आकर यहां लड़ रहे हैं तो जीत थोड़े जाएंगे।’
दरअसल धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला रेड्डी को बहुजन समाज पार्टी ने जौनपुर से प्रत्याशी बनाया था। उनके आने के बाद इस सीट पर त्रिकोणीय लड़ाई हो गई थी, लेकिन फिर एक नाटकीय घटनाक्रम के बाद उनका टिकट कट गया। धनंजय सिंह ने बसपा पर धोखा देने का आरोप लगाया तो बसपा ने कहा उनकी पत्नी ने खुद चुनाव लड़ने से इनकार किया था। बाद में धनंजय सिंह ने बीजेपी को समर्थन देने का एलान क र दिया।

अन्य समाचार