मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासफलता का परचम / चन्द्रयान-3

सफलता का परचम / चन्द्रयान-3

गर्वित हुए भारतवासी,
हम सबको हुआ अभिमान,
इसरो के करकमलों से पहुंचा,
चांद पे हिंदुस्तान,
बजा दुनिया में भारत का डंका,
पाक, चीन, यूरोप या लंका,
सुनो सभी से कहता भारत,
तुम्हे ना हो, अब कोई शंका,
एक दिन सूरज को छूटेगा,
मेरा भारत महान।
इसरो के करकमलों से पहुंचा,
चांद पे हिंदुस्तान।
हे मेरे रब, मेरे देश की ताकत,
ऐसे ही बढती जाये,
चन्द्रयान तृतीय जैसी
नित नई सफलता पाए,
आगे बढ़ो प्यारे भारत के
नव अभियन्ता मेरे युवान।
इसरो के करकमलों से पहुंचा,
चांद पे हिंदुस्तान।

पूरन ठाकुर ‘जबलपुरी’
कल्याण

अन्य समाचार