मुख्यपृष्ठस्तंभसेहत का तड़का : इंटरमिटेंट फास्टिंग से पाई फिटनेस!

सेहत का तड़का : इंटरमिटेंट फास्टिंग से पाई फिटनेस!

• वरुण धवन की सेहत का राज- नियमित व्यायाम, मार्शल आर्ट और योग-अभ्यास
एस.पी. यादव। अभिनेता वरुण धवन का जन्म २४ अप्रैल १९८७ को मुंबई में हुआ। बचपन से कुश्ती देखने के शौकीन वरुण धवन को `द रॉक’ यानी ड्वेन डगलस जॉनसन, अर्नोल्ड श्वार्ज़नेगर और सिलवेस्टर स्टैलोन की तरह बॉडी बनाने की चाहत थी। आज वरुण धवन बॉलीवुड के फिटनेस फ्रीक अभिनेताओं में से एक हैं। वे अपनी फिटनेस का श्रेय इंटरमिटेंट फास्टिंग, मार्शल आर्ट और योग-अभ्यास को देते हैं।

बांबे स्कॉटिश स्कूल से पढ़ाई करने के बाद वरुण धवन ने एच. आर. कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स से बारहवीं की शिक्षा पूरी की और बाद में लंदन के नॉटिंघम ट्रेंट यूनिवर्सिटी से बिजनेस मैनेजमेंट की डिग्री हासिल की। बैरी जॉन एक्टिंग स्कूल से एक्टिंग कोर्स पूरा कर अपने पिता मशहूर फिल्म निर्देशक डेविड धवन के नक्शे कदम पर चलते हुए २०१० में करण जौहर की फिल्म `माय नेम इज खान’ में बतौर सहायक निर्देशक काम किया। बाद में २०१२ में करण जौहर की फिल्म `स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ से अभिनय की पारी शुरू की और २०१८ तक एक के बाद एक कुल ११ हिट फिल्में देकर बॉलीवुड में अपना एक मुकाम कायम किया। २०१४ से वे लगातार फोर्ब्स इंडिया की टॉप १०० सेलिब्रिटी की सूची में जमे हुए हैं। वरुण धवन ने २४ जनवरी २०२१ को अपनी प्रेमिका फैशन डिजाइनर नताशा दलाल से शादी की।
रोजाना जाते हैं जिम
वरुण धवन प्रतिदिन जिम जाते हैं। बॉडी वेट एक्सरसाइज, स्ट्रेंथ ट्रेनिंग, पिलेट्स, कार्डियों के अलावा मार्शल आर्ट और योग-अभ्यास करते हैं। इसके अलावा स्विमिंग, साइक्लिंग और रनिंग करते हैं। रिलैक्स होने के लिए अपने कुत्ते के साथ समय बिताना पसंद करते हैं। वरुण समय-समय पर अपनी एक्सरसाइज रूटीन बदलते रहते हैं।
ऐसी है आहारचर्या
वरुण धवन सुबह सबसे पहले एक कप कॉफी पीते हैं। फिर अंडे के सफेद हिस्से का ऑमलेट या ओट्स खाते हैं। दोपहर के भोजन में हरी सब्जियां या चिकन और दाल, रोटी, चावल
खाते हैं। रात के भोजन में भी सब्जी या चिकन लेते हैं। वे खूब पानी पीते हैं और वर्कआउट के दौरान ऊर्जा और नमी बरकरार रखने के लिए `फास्ट एंड अप रिलोड’ सप्लीमेंट पीते हैं।
करते हैं इंटरमिटेंट फास्टिंग
वरुण धवन शाम सात बजे तक डिनर कर लेते हैं। इसके बाद लगभग १४-१५ घंटे तक कुछ नहीं खाते हैं यानी इंटरमिटेंट फास्टिंग करते हैं। ऐसा करने से उनका वजन नियंत्रित रहता है । बकौल वरुण धवन, `आप साबूत अनाज, फल या प्रोटीन कुछ भी खाएं इससे फर्क नहीं पड़ता, पर शरीर को भोजन पचाने के लिए पर्याप्त वक्त जरूर दें।’
मिष्टी दोई, चीज और चिकन पसंद
वरुण धवन को चिकन, चीज केक, मिष्टी दोई, चीज मसाला डोसा, पिज्जा और तरबूज का जूस विशेष पसंद है। उन्हें काली मिर्च डालकर ऑमलेट बनाना भी पसंद है। केंटुकी प्रâाइड चिकन भी उन्हें भाता है।

मिष्टी दोई की रेसिपी
सामग्री:
एक लीटर दूध, एक कप ताजा दही, एक कटोरी गुड़ और एक कप पानी।
विधि:
धीमी आंच पर दूध को अच्छी तरह उबाल लें। गुड़ और पानी को उबाल कर चाशनी बना लें। दूथ ठंडा हो जाने पर उसमें ताजा दही डालकर मथ लें। बाद में इस मिश्रण को एक मिट्टी के बर्तन में डालकर पांच-छह घंटे तक ठंडा होने के लिए फ्रीज में रख दें।
फायदे:
सौ ग्राम मिष्टी दोई खाने से १७९ कैलोरी ऊर्जा मिलती है। दही में मौजूद प्रोबायोटिक के कारण यह पेट के लिए अच्छा आहार है। इसमें पर्याप्त मात्रा में मैग्नीशियम, पोटैशियम और आयरन जैसे खनिज मौजूद होते हैं। मिठाई का बेहतर विकल्प होने के साथ-साथ यह शरीर को झटपट ऊर्जा प्रदान करने में सहायक है।

(लेखक स्वास्थ्य विषयों के जानकार, वरिष्ठ पत्रकार व अनुवादक हैं। ‘स्वास्थ्य सुख’ मासिक के संपादक रह चुके हैं।)

अन्य समाचार