मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासेहत का तड़का : हर रोज कसरत की नई डोज!... रामचरण...

सेहत का तड़का : हर रोज कसरत की नई डोज!… रामचरण ने जिम, डाइट और उपवास से सेहत बनाई खास

एस.पी. यादव। अभिनेता, निर्माता व उद्यमी कोनिडेला रामचरण तेजा का जन्म २७ मार्च १९८५ को मद्रास (अब चेन्नई) में हुआ। रामचरण तेलुगू फिल्मों के अलावा बॉलीवुड की कई हिंदी फिल्मों में भी अभिनय कर चुके हैं। टॉलीवुड के विख्यात अभिनेताओं में से एक रामचरण को अब तक तीन फिल्मफेयर अवॉर्ड, दो सिनेमा अवॉर्ड, दो नंदी अवॉर्ड और दो संतोषम बेस्ट एक्टर अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है। अपनी फिटनेस के लिए मशहूर रामचरण तेजा नियमित व्यायाम, संतुलित डाइट के साथ-साथ उपवास को सेहत का सूत्र बताते हैं।
अभिनेता चिरंजीवी और अभिनेत्री सुरेखा के बेटे रामचरण तेजा ने चेन्नई के पद्म शेषाद्री बाल भवन, लवडेल स्थित लॉरेंस स्कूल और बेगमपेट स्थित हैदराबाद पब्लिक स्कूल से पढ़ाई की। बाद में हैदराबाद के सेंट मैरी कॉलेज से बी.कॉम की पढ़ाई की, लेकिन ग्रैजुएशन पूरा नहीं किया। उन्होंने मुंबई में किशोर नमित कपूर के एक्टिंग स्कूल से अभिनय का प्रशिक्षण प्राप्त किया। रामचरण तेजा ने २००७ में तेलुगू फिल्म ‘चिरुथा’ से अभिनय की पारी शुरू की। २००९ में रिलीज ‘मगधीरा’ ने बॉक्स ऑफिस पर बंपर कमाई की और उन्हें सुपरस्टार के रूप में स्थापित किया। हाल ही में उनकी बहुचर्चित फिल्म ‘आरआरआर’ रिलीज हुई है। रामचरण ने २०१३ में ‘जंजीर’ फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखा। इस फिल्म में उनके साथ प्रियंका चोपड़ा ने काम किया है।
सप्ताह में छह दिन जाते हैं जिम
रामचरण नियमित जिम जाते हैं, जहां वे तीन सेट में ५०-५० पुश-अप करते हैं। इसके बाद तीन सेट में १०-१० बार बेंच-प्रेस, तीन सेट में १२-१२ बार क्लोज ग्रिप पुश-अप्स, तीन सेट में ५०-५० बार प्लेट ट्विस्ट, तीन सेट में २५-२५ बार बारबेल फ्लोर वाइपर, तीन सेट में १०-१० बार ट्रिपल स्टॉप बेंच प्रेस, तीन सेट में १२-१२ बार रेनेगेड रो और दो सेट में १०-१० बार पुल-अप करते हैं। इसके अलावा वे केबल फ्लाई, चलने, ताली बजाने जैसी विविध प्रकार की एक्सरसाइज करते हैं। रामचरण सप्ताह में छह दिन अलग-अलग एक्सरसाइज करते हैं और एक दिन शरीर को आराम देते हैं। इस दौरान वे योग और प्राणायाम करते हैं।
अध्यात्म से तनावमुक्ति
रामचरण अपने निजी जीवन में बेहद आध्यात्मिक हैं। २००८ से वे हर साल केरल के सबरीमाला में आयोजित होनवाली ४१ दिवसीय अयप्पा दीक्षा (व्रतम) में भाग लेते हैं। रामचरण का कहना है, ‘यह आध्यात्मिक जीवन मुझे तनाव मुक्त करने, सादा-स्वस्थ भोजन करने और शूटिंग के व्यस्त शेड्यूल से राहत दिलाकर आंतरिक शांति प्रदान करने में मदद करता है।’ कभी मांसाहारी भोजन के शौकीन रहे रामचरण ने हाल ही में शाकाहार को अपना लिया है। दरअसल पिछले साल २७ मार्च को उनकी पत्नी ने जन्मदिन के तोहफे के रूप में उन्हें एक कुत्ता भेंट किया। इसके बाद उनमें पशु-प्रेम इतना प्रगाढ़ हो गया कि उन्होंने शाकाहारी जीवनशैली अपना ली है।
अपनी डाइट पर देते हैं पूरा ध्यान
रामचरण अपनी डाइट का विशेष ख्याल रखते हैं। वे सुबह एक गिलास गाय का दूध पीते हैं। बकौल रामचरण, ‘गाय का दूध संपूर्ण आहार है। यह पौष्टिक होता है। यह प्रोटीन, जिंक और विटामिन-बी का उत्कृष्ट स्रोत है और वैâल्शियम से भी भरपूर है, जो मजबूत हड्डियों के लिए जरूरी है।’ वे सुबह आठ बजे नाश्ता करते हैं, जिसमें दो अंडे, तीन अंडे का सफेद हिस्सा, बादाम का दूध और आधा कप ओट्स शामिल होता है। सुबह ११:३० बजे वे एक कप सब्जी का सूप पीते हैं। रामचरण दोपहर डेढ़ बजे लंच करते हैं, जिसमें २०० ग्राम चिकन ब्रेस्ट (अब सोयाबीन), आधा कप ग्रीन करी और आधा कप ब्राउन राइस शामिल होता है। शाम चार बजे वे नाश्ते में २०० ग्राम शकरकंद के साथ आधा कप हरी सब्जियां खाते हैं। वे शाम छह बजे डिनर करते हैं, जिसमें एक कटोरी मेवे, एक प्लेट ग्रीन सलाद और एवोकाडो शामिल होता है। डिनर के बाद वे रात में कुछ भी नहीं खाते हैं।
बिरयानी के शौकीन
बाहर के भोजन से मिलनेवाली अनावश्यक वैâलोरी से बचने के लिए फिल्म के सेट पर अपना टिफिन साथ लानेवाले रामचरण तेजा को ताजे फल और ताजी सब्जियां पसंद हैं। उनका कहना है कि सब्जियों और फलों से शरीर को ठीक से काम करने के लिए जरूरी प्राकृतिक फाइबर, विटामिन, खनिज और अन्य आवश्यक यौगिकों की पूर्ति होती है। उन्हें हैदराबादी बिरयानी बहुत पसंद है। हालांकि बिरयानी या किसी अन्य भोजन में वे मक्का खाने से परहेज करते हैं।
हैदराबादी वेज बिरयानी की रेसिपी
सामग्री: एक कप बासमती चावल, एक कप बारीक कटी सब्जियां (गाजर, बीन्स, प्याज, शिमला मिर्च और मटर), एक चम्मच जीरा, एक चम्मच अदरक पेस्ट, दो चम्मच वेज बिरयानी मसाला, चार चम्मच घी, १० काजू, खड़े मसाले (दो लौंग, दो छोटी इलाइची, तेज पत्ता) और स्वादानुसार नमक।
विधि: चावल को अच्छी तरह साफ कर १० मिनट तक पानी में भीगने दें और बाद में छानकर अलग रख लें। कुकर में घी गर्म कर जीरा, हरी मिर्च, तेज पत्ता, लौंग, छोटी इलाइची और काजू डालकर भून लें। अब बारीक कटे प्याज को भून लें। अब हरी सब्जियां डालकर अच्छी तरह मिला लें। दो मिनट तक धीमी आंच पर पकाने के बाद इसमें वेज बिरयानी मसाला और नमक डाल दें। अब इसमें भीगे-छने चावल डाल दें। लगभग डेढ़ कटोरी पानी डाल कर तेज आंच पर इसे एक उबाल आने तक पकाएं। फिर कुकर का ढक्कन बंद कर एक सीटी आने तक पकाएं। बिरयानी को दही, चटनी और आचार के साथ परोसें।
फायदे: हैदराबादी वेजिटेबल बिरयानी में सैचुरटेड पैâट, कोलेस्ट्रॉल और सोडियम की कम मात्रा होती है, इसलिए इसे स्वस्थ आहार माना जाता है। यह फाइबर और मैंगनीज का भी अच्छा स्रोत है। इसमें मिलाई जानेवाली हरी सब्जियां इसे और गुणकारी बनाती हैं। इसमें मिले मसाले असरदार एंटीऑक्सीडेंट का काम करते हैं। इससे पाचनतंत्र स्वस्थ रहता है।
(लेखक स्वास्थ्य विषयों के जानकार, वरिष्ठ पत्रकार व अनुवादक हैं। ‘स्वास्थ्य सुख’ मासिक के संपादक रह चुके हैं।)

अन्य समाचार