मुख्यपृष्ठनए समाचारहिंदुस्थान में मधुमेह के मरीजों की बाढ़   ... डायबिटीज से होते हैं...

हिंदुस्थान में मधुमेह के मरीजों की बाढ़   … डायबिटीज से होते हैं ८० फीसदी किडनी रोग!

चिकित्सकों ने किया दावा
ब्लड शुगर को नियंत्रित करना ही है बचाव

 धीरेंद्र उपाध्याय / मुंबई
बदलती जीवनशैली के कारण लोग तरह-तरह की बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। इन्हीं बीमारियों की फेहरिस्त में डायबिटीज भी शामिल है। बीते कुछ सालों में देखा गया है कि हिंदुस्थान में मधुमेह के मरीजों की बाढ़ सी आ गई है। आलम यह है कि एक तिहाई मधुमेह मरीजों में किडनी के रोग घर कर रहे हैं। विशेषज्ञ डॉक्टरों का कहना है कि किडनी की बीमारी के ८० प्रतिशत मरीजों में मधुमेह का इतिहास पाया जाता है, जो किडनी फेलियर का कारण बनती है। ऐसे मरीजों के लिए किडनी ट्रांसप्लांट ही एकमात्र विकल्प बचता है। चिकित्सकों ने कहा कि इससे बचने के लिए ब्लड शुगर की मात्रा को नियंत्रित करना जरूरी है ताकि किडनी प्रभावित न हो। उल्लेखनीय है कि आज विश्व मधुमेह दिवस है। इस अवसर पर इस बीमारी को लेकर लोगों के बीच जागरूकता भी पैâलाई जाती है।

किडनी फेल्योर के मामले अधिक
मुंबई के अपोलो स्पेक्ट्रा अस्पताल के मधुमेह विशेषज्ञ डॉ. भाविक सगलानी ने कहा कि किडनी फेल्योर के ८० फीसदी मामलों में मरीजों को मधुमेह होता है। अनियंत्रित या खराब प्रबंधन गुर्दे की रक्त वाहिकाओं और तंत्रिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है। मधुमेह से जुड़े उच्च रक्त शर्करा के स्तर समय के साथ गुर्दे में नाजुक फिल्टरिंग प्रणाली को नुकसान पहुंचा सकते हैं और ये गुर्दे की विफलता का कारण बन सकते हैं।
नेफ्रोपैथी से उच्च रक्तचाप को आमंत्रण
जायनोवा शाल्बी अस्पताल में मधुमेह विशेषज्ञ डॉ. नीता शहा ने कहा कि मधुमेह में जैसे-जैसे किडनी की बीमारी बढती जाती है वह नेफ्रोपैथी उच्च रक्तचाप को आमंत्रित करती है। इसके अलावा किडनी की संरचना में बदलाव से रक्तचाप के स्तर में वृद्धि होती है। कई बार मधुमेह के प्रारंभिक चरण में लक्षण सामने नहीं आते हैं। हालांकि जैसे-जैसे समय बीतते जाता है रोगियों को उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।
जटिलताओं को किया जा सकता है कम  
लापरवाही के कारण कई लोगों को डायलिसिस और आखिर में किडनी प्रत्यारोपण की जरूरत पड़ सकती है। डॉ. शहा ने कहा कि संतुलित कम चीनी वाले आहार, नियमित किडनी स्वास्थ्य जांच और शारीरिक गतिविधि को बनाए रखते हुए एक स्वस्थ जीवन शैली अपनाना मधुमेह और किडनी रोग जैसी जटिलताओं को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अन्य समाचार

कुदरत

घरौंदा