मुख्यपृष्ठखबरेंसंगम की नगरी में उफान पर गंगा! .... प्रयागराज में बाढ़ का...

संगम की नगरी में उफान पर गंगा! …. प्रयागराज में बाढ़ का खतरा

प्रयागराज। मध्य प्रदेश और उत्तराखंड में भारी वर्षा का असर संगम नगरी में दिखने लगा है। यहां गंगा, यमुना, टोंस और बेलन नदियों का जल स्तर तेजी से बढ़ने लगा है। इससे मंगलवार को संगम के पास गंगा का राम घाट डूब गया। यही नहीं फाफामऊ का पांटून पुल भी बह गया। जिला प्रशासन की ओर से तटीय क्षेत्रों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। बाढ़ चौकियों को सक्रिय करने के निर्देश भी दिए गए हैैं।

प्रयागराज जनपद में भले ही न बादल दिख रहे हैैं और न ही वर्षा हो रही है मगर बाढ़ की आशंका बढ़ती जा रही है। यहां मध्य प्रदेश में हो रही तेज वर्षा के चलते यमुना, टोंस तथा बेलन नदी का जल स्तर बढ़ रहा है। यमुना का जल स्तर सोमवार रात और मंगलवार रात के बीच 71 सेमी बढ़ गया। मंगलवार रात यमुना का जल स्तर 74.79 मीटर दर्ज किया गया। इसी तरह गंगा का जल स्तर सोमवार रात 77.32 से बढ़कर मंगलवार रात 77.55 मीटर पर पहुंच गया। इसके कारण राम घाट डूब गया। वहां स्नान पर रोक लगा दी गई है।

दूसरी ओर जल स्तर बढऩे से संगम के विभिन्न घाटों तथा गंगा व यमुना के घाटों से तीर्थ पुरोहितों ने अपना सामान समेटना शुरू कर दिया है। मंगलवार दिन भर पुरोहित अपने तख्त और बाक्स आदि सुरक्षित स्थान पर ले जाने में जुटे रहे।

अन्य समाचार