मुख्यपृष्ठखेलहवा में उड़े, पांडे जी!

हवा में उड़े, पांडे जी!

कमाल करते हो पांडे जी, यह डायलॉग तो आप सभी ने सलमान खान की फिल्म `दबंग’ में सुना ही होगा। एक फिल्मों के पांडे जी हैं जो अभिनय से सभी को इंप्रेस करते हैं और एक क्रिकेट के पांडे जी हैं, जो टीम को जीत दिलाने के लिए हवा में भी उड़े चले जा रहे हैं। दरअसल, भारतीय क्रिकेट के पांडे जी यानी मनीष पांडे ने महाराजा टी२० ट्रॉफी के फाइनल मैच में ये कारनामा किया है। टीम को जीत दिलाने के लिए जनाब बाउंड्री पर कूदते हुए हवा में उड़ गए। नजारा ऐसा, जिसने सभी को चौंका दिया। मनीष पांडे का ये करिश्मा इसलिए भी लोगों को लुभाया कि इसमें एक कप्तान का जोश घुला था और जब एक कप्तान अपनी टीम को खिताबी जीत दिलाने के लिए इतना कुछ कर सकता है तो फिर बाकी खिलाड़ियों का जोश तो हाई होगा ही। उसी हाई जोश ने मनीष पांडे की टीम हुबली टाइगर्स को चैंपियन बना दिया। बता दे कि २९ अगस्त की शाम खेले महाराजा टी२० ट्रॉफी के फाइनल में हुबली टाइगर्स का मुकाबला मैसूर वॉरियर्स से था। २०४ रन के लक्ष्य का पीछा कर रही मैसूर टाइगर्स को अंतिम ४ गेंदों पर ११ रन बनाने थे। इसे हासिल करने की मैसूर के बल्लेबाजों ने कोशिश भी की। उन्होंने गेंद को सीधे हवा में उड़ाते हुए बाउंड्री के पार टपकाना चाहा। लेकिन उनके इस अरमान के बीच आकर खड़े हो गए हुबली टाइगर्स के कप्तान मनीष पांडे। जैसे ही गेंद बाउंड्री के पार जाकर गिरनेवाली थी, मनीष पांडे झपट्टा मारकर कूद पड़े। उन्होंने हवा में छलांग लगा दी और गेंद को बाउंड्री के पार टपकने से पहले ही रोक दिया। वो उसे वैâच तो नहीं कर पाए, लेकिन रोकने में कामयाब रहे तो टीम के लिए ५ रन भी बचा लिए। उनके बचाए ५ रन का नतीजा ये हुआ कि मनीष पांडे की टीम हुबली टाइगर्स महाराजा टी२० लीग का फाइनल मुकाबला ८ रन से जीतने में कामयाब रही।

अन्य समाचार