मुख्यपृष्ठनए समाचारशिवसेना के चार दिग्गज चुनाव मैदान में! ...कल्याण से वैशाली दरेकर, हातकणंगले...

शिवसेना के चार दिग्गज चुनाव मैदान में! …कल्याण से वैशाली दरेकर, हातकणंगले से सत्यजीत पाटील, जलगाव से करण पवार और पालघर से भारती पाटील

सामना संवाददाता / मुंबई
लोकसभा चुनाव के लिए शिवसेना की दूसरी सूची कब घोषित होगी, इस पर मीडिया सहित हर कोई नजर टिकाए बैठा था। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल पत्रकार परिषद में दूसरी सूची घोषित की। उन्होंने कल्याण, पालघर, हातकणंगले और जलगांव लोकसभा क्षेत्रों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा की। शिवसेना की योद्धा वैशाली दरेकर-राणे को कल्याण निर्वाचन क्षेत्र से मैदान में उतारा गया है। शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कल अपने आवास मातोश्री पर पत्रकार परिषद लेकर मीडिया से बातचीत की। पत्रकार परिषद की शुरुआत में ही उन्होंने कहा कि काफी समय से सुन रहा था कि अचानक भूकंप आएगा। आज पता चला कि भूकंप आकर जा चुका है। कोई भी छोटा-मोटा यहां से वहां जाएगा तो शिवसेना को धक्का, ऐसी खबरें आ रही थीं लेकिन शिवसेना धक्का खानेवाली नहीं, जोरदार धक्का देनेवाली पार्टी है ऐसा तंज उद्धव ठाकरे ने कल घातियों पर कसा।
जैसे ही मीडिया प्रतिनिधियों ने उद्धव ठाकरे से पूछा कि शिवसेना उम्मीदवारों की दूसरी सूची कब घोषित की जाएगी? इसके बाद उद्धव ठाकरे ने ‘लिखकर ले लीजिए’ कहते हुए चार निर्वाचन क्षेत्रों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा की। उद्धव ठाकरे ने मीडिया प्रतिनिधियों से पूछा कि पहले किस निर्वाचन क्षेत्र के लिए उम्मीदवार की घोषणा करूं? जिस पर मीडिया ने तुरंत कल्याण लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का नाम लिया। इसके बाद उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसेना ने कई कार्यकर्ताओं और आम लोगों को बड़ा बनाया हैं, जिसमें से कुछ गद्दार निकले और दूसरी पार्टी में चले गए, लेकिन उनको बड़ा करनेवाले लोग शिवसेना में ही हैं इसलिए कल्याण से शिवसेना की कट्टर कार्यकर्ता वैशाली दरेकर-राणे कल्याण की अगली सांसद होंगी, ऐसा विश्वास उद्धव ठाकरे ने जताया। इतना ही नहीं, उद्धव ठाकरे ने आगे कहा कि वैशाली दरेकर सामान्य परिवार से हैं, ऐसा कहते हुए उद्धव ठाकरे ने आगे कहा कि सभी शिवसैनिक, आम लोग व शिवसैनिक गद्दारों को गाड़े बिना चुप नहीं बैठेंगे, ऐसा विश्वास भी उद्धव ठाकरे ने व्यक्त किया। इस अवसर पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि आदिवासी महिला कार्यकर्ता भारती कामडी भी पालघर लोकसभा क्षेत्र से शिवसेना की उम्मीदवार होंगी। उन्होंने कहा कि सत्यजीत पाटील को हातकणंगले निर्वाचन क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया गया है, जबकि जलगाव से उन्मेष पाटील के समर्थक करण पवार शिवसेना के उम्मीदवार होंगे।
मुंबई की छह में से चार सीटें शिवसेना के खाते में आई हैं और उम्मीदवारों की घोषणा कर दी गई हैं। उत्तर मुंबई और उत्तर-मध्य मुंबई सीट सहयोगी पार्टियों के पास हैं, अगर वे चुनाव नहीं लड़ते हैं तो वहां भी शिवसेना के उम्मीदवार तैयार हैं। उन्होंने कहा कि देश में तानाशाही के खिलाफ लहर चल रही है, इसलिए शिवसेना किसी भी निर्वाचन क्षेत्र से लड़ने को तैयार है।
उद्धव ठाकरे ने यह भी कहा कि सहयोगी दलों ने मुंबई की बाकी दो सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है और शिवसैनिक उनके लिए शिवसेना उम्मीदवार की तरह ही उनका प्रचार करेंगे। इस दौरान मीडिया ने उद्धव ठाकरे से पूछा कि क्या स्वाभिमानी किसान संघ के राजू शेट्टी से बातचीत विफल रही? इस पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि बातचीत विफल होने का कोई सवाल ही नहीं है, लेकिन अगर तानाशाही को दफन करना है तो विपक्षी दलों की ताकत बढ़ानी बहुत जरूरी है। वर्ष २०१९ में कोल्हापुर की दोनों सीटों पर शिवसेना ने जीत हासिल की थी। इस बार हमने छत्रपति शाहू महाराज के सम्मान में एक सीट कांग्रेस को दी। अगर दूसरी सीट छोड़ी गई तो संभावना है कि शिवसेना-प्रेमी हिंदुत्व मतदाता नाराज हो जाएंगे। इसलिए हमने हातकणंगले और सांगली से लड़ने का पैâसला किया, ऐसा उद्धव ठाकरे ने स्पष्ट किया।
इस अवसर पर बोलते हुए शिवसेना नेता-सांसद संजय राऊत ने कहा कि राजू शेट्टी और उद्धव ठाकरे की मातोश्री पर दो बैठकें हुर्इं। राजू शेट्टी किसानों के लिए अच्छा काम करते हैं, लेकिन हातकणंगले शिवसेना का निर्वाचन क्षेत्र है। पिछली बार शिवसेना उम्मीदवार ने उन्हें हराया था। शेट्टी का रुख था कि इस बार शिवसेना को समर्थन देना चाहिए, लेकिन वहां के पदाधिकारियों ने अनुरोध किया कि वहां पर शिवसेना का उम्मीदवार होना चाहिए और उसे मशाल चुनाव चिह्न पर लड़ना चाहिए। शिवसेना ने शेट्टी को महाविकास आघाड़ी में शिवसेना में शामिल होने और मशाल चुनाव चिह्न पर चुनाव लड़ने का अनुरोध किया था। लेकिन उनका कहना था कि वे मशाल चुनाव चिह्न पर चुनाव नहीं लड़ सकते। इसलिए शिवसेना ने शाहूवाड़ी के पूर्व विधायक सत्यजीत पाटील की उम्मीदवारी की घोषणा की, ऐसी जानकारी संजय राऊत ने इस दौरान दी।

अन्य समाचार