मुख्यपृष्ठसमाचारविकास के नाम पर फर्जीवाड़ा! ...फर्जी मनरेगा मजदूरों का किया भुगतान

विकास के नाम पर फर्जीवाड़ा! …फर्जी मनरेगा मजदूरों का किया भुगतान

सामना संवाददाता / चित्रकूट । चित्रकूट सदर ब्लॉक कर्वी के ग्राम पंचायत सकरौली में ग्राम प्रधान और सचिव की मिलीभगत से मनरेगा योजना में फर्जी जॉब कार्डों के सहारे सरकारी धन का गबन किया जा रहा है। प्रधान और सचिव श्याम सिंह पटेल द्वारा मनरेगा योजना में उन श्रमिकों के खाते में पैसे डाले गए हैं, जो कभी काम करने गए ही नहीं हैं। वहीं ग्राम पंचायतों सदस्यों के जॉब कार्ड बनाकर उनके खातों में पैसा भेजा जा रहा है। समाजसेवी संजय राणा ने जिलाधिकारी से इसकी शिकायत कर कहा कि ग्राम पंचायत में मनरेगा योजना से कराए जा रहे मेड़ बंदी व समतलीकरण के नाम पर जमकर लूट की गई है। ग्राम पंचायत में पंचायत सहायक की भर्ती में घोर धांधली की गई है, जिसमें ग्राम रोजगार सेवक श्रीराम सोनी की पत्नी अमिता सोनी को पंचायत सहायक के पद पर तैनात किया है, जो जिला मुख्यालय कर्वी में निवास कर रही हैं।
सैकड़ों जॉब कार्ड बनाया फर्जी
अमिता सोनी ग्राम पंचायत कभी नहीं जाती हैं। फिर भी सरकारी धन का आहरण कर रही हैं। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत में लगभग सैकड़ों जॉब कार्ड में जमकर फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। उन लोगों के नाम जॉब कार्ड में भर के पैसा निकाला जा रहा है, जो लोग अपने गांव से बाहर गुजरात, अमदाबाद कमाने गए हैं। प्रधान व सचिव उनसे ७५ फीसदी पैसे लेते हैं। २५ फीसदी खाताधारक को दे देते हैं। इस संबंध में जिलाधिकारी शुभ्रांत कुमार शुक्ला ने कहा कि जांच टीम गठित की जा रही है। जांच कराकर दोषी पाए जाने पर कड़ी-से-कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

अन्य समाचार