मुख्यपृष्ठनए समाचारसरकारी अस्पतालों में अब इलाज हुआ मुफ्त

सरकारी अस्पतालों में अब इलाज हुआ मुफ्त

• स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया शासनादेश
• ब्लड सप्लाई किया गया है पृथक
सामना संवाददाता / मुंबई
प्रदेश के सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग के अधिकार क्षेत्र में आनेवाले सभी सरकारी अस्पतालों में इलाज सहित तमाम स्वास्थ्य सेवाएं मरीजों के लिए मुफ्त उपलब्ध कराई जा रही हैं। इस संदर्भ में स्वास्थ्य विभाग की ओर से बुधवार को एक शासनादेश जारी कर बताया गया है कि ब्लड सप्लाई को छोड़कर सार्वजनिक और निजी भागीदारी के तहत मरीजों को मुहैया कराई जानेवाली मेडिकल टेस्ट, इलाज और अन्य सभी सेवाएं १५ अगस्त से मुफ्त उपलब्ध हैं। प्रस्ताव के मुताबिक, महाराष्ट्र के सभी सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज और अन्य स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करने का निर्णय राज्य मंत्रिमंडल की तीन अगस्त को हुई बैठक में लिया गया था। अधिकारियों ने पहले बताया था कि इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा संचालित २,४१८ अस्पतालों और चिकित्सा केंद्रों पर मुफ्त सुविधाएं उपलब्ध होंगी। उन्होंने बताया कि २.५५ करोड़ से अधिक लोगों ने इन सुविधाओं में मुफ्त उपचार प्राप्त किया है।
नागरिकों का है अधिकार
हिंदुस्थान के संविधान के आर्टिकल २१ के अनुसार राइट टू हेल्थ नागरिकों का अधिकार है। इसी के तहत स्वास्थ्य विभाग की ओर से मुफ्त इलाज की व्यवस्था दी जा रही है, वहीं अब शासनादेश जारी होने के बाद प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, ग्रामीण अस्पताल, महिला अस्पताल, जिला सामान्य अस्पताल, उप जिला अस्पताल, रेफरल सेवा अस्पताल और वैंâसर अस्पताल में मरीजों को मुफ्त इलाज मिल पाएगा।
इन पर लागू नहीं होगी सरकारी योजना
योजना के लागू होने से गरीब और जरूरतमंदों को बड़ी राहत मिलेगी। हालांकि, यह नई योजना मेडिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट के अंतर्गत आनेवाले अस्पताल और मेडिकल कॉलेज पर लागू नहीं होगी।

अन्य समाचार

लालमलाल!