मुख्यपृष्ठसमाचारबार-बार पेपर लीक होना भ्रष्टाचार की खतरनाक तस्वीर-संजय सिंह

बार-बार पेपर लीक होना भ्रष्टाचार की खतरनाक तस्वीर-संजय सिंह

जिम्मेदार अफसरों की जगह खुलासा करने वाला पत्रकार गिरफ्तार-संजय सिंह

संजय सिंह ने पेपर लीक मामला सभा में उठाने की मांग!

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट के अंग्रेजी विषय का पेपर लीक होने के मामले को राज्यसभा में उठाएंगे। उन्होंने इसे लेकर नोटिस दिया है और चार अप्रैल को शून्यकाल में अपनी बात रखने की अनुमति मांगी है। संजय सिंह ने पेपर लीक मामले का खुलासा करने वाले पत्रकार की गिरफ्तारी पर भी सवाल उठाया है। वह इस मामले को भी उच्च सदन में उठाएंगे। संजय सिंह ने नोटिस में लिखा, उत्तर प्रदेश में एक के बाद एक लगभग सभी परीक्षाओं के पेपर लीक हो रहे हैं। अभी हाल ही में यूपी के बलिया समेत २४ जिलों में यूपी बोर्ड की १२वीं कक्षा का अंग्रेजी का पेपर लीक हो गया, जिसके कारण इन जिलों में अंग्रेजी की परीक्षाएं रद्द करनी पड़ी। लाखों विद्यार्थियों ने परीक्षा की तैयारी के लिए रात-दिन मेहनत की, लेकिन इस तरह प्रश्न पत्र की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम न किए जाने के कारण विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों को निराश होना पड़ा है। सरकार ने दोषियों के खिलाफ मजबूत कार्रवाही करने की बजाय उस पत्रकार को ही गिरफ्तार कर लिया, जिसने पेपर लीक मामले को उजागर किया था। उत्तर प्रदेश में किसी परीक्षा का प्रश्न पत्र लीक होने का यह पहला मामला नहीं है, बल्कि यूपी टेट समेत २० से ज्यादा महत्वपूर्ण परीक्षाओं के प्रश्न पत्र भी लीक हो चुके हैं। यह युवा पीढ़ी पर बहुत बड़ी मार है। राज्य में भ्रष्टाचार की यह एक खतरनाक तस्वीर है। इस मामले में दोषी चाहे डीएम हों या एसपी सभी दोषियों को बर्खास्त किया जाना चाहिए।
यह एक अतिगंभीर विषय है, जिस पर सदन में शून्यकाल के दौरान अपनी बात रखने के लिए मुझे अनुमति प्रदान करें।

अन्य समाचार