मुख्यपृष्ठनए समाचारफाइटर्स के बीच से फुर्र! ...अंकल सैम के सामने चीन हुआ चित

फाइटर्स के बीच से फुर्र! …अंकल सैम के सामने चीन हुआ चित

• ड्रैगन के फाइटर्स डर गए
• जापानी जांबाजों की सुरक्षा में सुरक्षित निकल गईं नैंसी

एजेंसी / नई दिल्ली
चीन की धमकियां एक बार फिर `फुसकी बम’ साबित हुई। अंकल सैम यानी अमेरिका के सामने चीन चित हो गया। नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा से चीन बुरी तरह से बौखलाया हुआ है। यही कारण है कि चीन ने बदला लेने की खुलेआम धमकी दी है। पेलोसी के ताइवान पहुंचते ही चीन ने एलान कर दिया कि वह ताइवान के चारों ओर युद्धाभ्यास करने जा रहा है। चीन के लड़ाकू विमान चारों तरफ हवा में उड़ रहे थे। इन फाइटर्स के बीच बिना परवाह किए नैंसी अपने देश फुर्र हो गर्इं। उन्हें हवा में जापानी जांबाजों की सुरक्षा भी मिल गई। जापानी जवान अपने लड़ाकू विमानों से पेलोसी के आगे-पीछे उन्हें कवर कर रहे थे। पेलोसी ने कहा कि उनकी यात्रा का लक्ष्य यह स्पष्ट करना था कि अमेरिका ताइवान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को नहीं छोड़ेगा। पेलोसी की इस यात्रा से यह तो तय है कि अमेरिका और ताइवान के साथ चीन के रिश्ते आने वाले समय में अधिक तनावपूर्ण बनने जा रहे हैं। ऐसे में कई लोगों को १९९५-९६ की घटना याद आ गई, जब ऐसी ही एक यात्रा के कारण चीन और ताइवान आमने-सामने आ गए थे। उस समय तो चीन ने ताइवान के ऊपर परमाणु हमला करने में सक्षम मिसाइल तक दाग दी थी। यह मिसाइल राजधानी ताइपे के ऊपर से उड़ान भरती हुई पूर्वी तट से १९ मील की दूरी पर गिरी थी। गनीमत यह रही कि यह मिसाइल हमले के समय परमाणु वॉरहेड से लैस नहीं थी।

अमेरिकी कांग्रेस की स्पीकर नैंसी पेलोसी ताइवान के दौरे पर थीं और अब वह यहां से अमेरिका के लिए रवाना हो गई हैं। यहां उन्होंने ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग वेन से मुलाकात की। ताइवान यात्रा को लेकर चीन का रुख आक्रामक है। चीन ने अपने युद्धपोत और फाइटर जेट को ताइवान के करीब तैनात कर दिया है। पेलोसी की इस यात्रा से अमेरिका ने एक तीर से दो निशाने किए हैं। उन्होंने ताइवान को लेकर चीन को संदेश दिया है लेकिन इसके साथ ही चीन की एक और दुखती रग तिब्बत पर भी हाथ रख दिया है।

चीन ने दी बदला लेने की धमकी
चीन ने अमेरिकी हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा पर बदला लेने की धमकी दी है। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने अमेरिका और ताइवान के खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगाने की कसम खाई है। वांग ने मंगलवार को नोम पेन्ह में एसोसिएशन ऑफ साउथईस्ट एशियन नेशंस (आसियान) की एक बैठक में कहा कि यह एक तमाशा है। तथाकथित ‘लोकतंत्र’ की आड़ में अमेरिका चीन की संप्रभुता का उल्लंघन कर रहा है। चीन को नाराज करनेवालों को दंडित किया जाएगा। हम किसी को बख्शेंगे नहीं। उधर, चीन की धमकियों की परवाह न करते हुए नैंसी पेलोसी न सिर्फ ताइवान पहुंचीं बल्कि वह अपना दौरा पूरा कर वापस अमेरिका के लिए रवाना भी हो गईं।

अन्य समाचार