मुख्यपृष्ठनए समाचारवाराणसी में G-20 सम्मेलन आयोजित, मां गंगा की आरती देख डेलिगेट्स हुए...

वाराणसी में G-20 सम्मेलन आयोजित, मां गंगा की आरती देख डेलिगेट्स हुए मंत्रमुग्ध

उमेश गुप्ता / वाराणसी

जी-20 सम्मेलन में शामिल होने आए विदेशी मेहमान शुक्रवार शाम वाराणसी के दशाश्वमेध घाट की गंगा आरती देख मंत्रमुग्ध हो गए। क्रूज पर सवार जी-20 देशों के डेलिगेट्स चार मिनट छह सेकेंड का शंखनाद सुनकर चकित रह गए। सनातनी संस्कृति के एक-एक पल को मोबाइल में कुछ ने कैद किया तो कुछ भक्तिभाव में डूबे रहे।
शुक्रवार को नदेसर स्थित होटल ताज में बैठक के बाद विदेशी मेहमान सुरक्षित वाहनों से रविदास घाट पहुंचे। वहां से सभी दो क्रूज पर सवार होकर गंगा आरती देखने के लिए रवाना हुए। भाव विभोर करने वाली आरती को कुछ मेहमान समझने में जुटे रहे। आरती की विशेषताओं से भरे ब्रोसर को ध्यान से पढ़ा। इस दौरान आरती करने वाले अर्चकों की भाव-भंगिमाओं को समझाया जा रहा था। साथ ही प्रतिदिन होने वाली गंगा आरती को देखने के लिए उमड़ने वाली भीड़ का रहस्य भी बताते हुए सनातनी संस्कृति में गंगा को मां का दिया गया दर्जा के बारे में उन्हें बताया गया। शंखनाद, घंटी, डमरू, धूप, आरती के मिलन की अदभुत छठा देख मेहमान रोमांचित हुए। अर्चकों के चंवर डोलाने के तरीकों को निहार रहे थे। मेहमानों का शानदार तरीके से स्वागत किया गया। इस दौरान गंगा सेवा निधि व जिला प्रशासन की पहल पर दशाश्वमेध घाट की फूल-मालाओं से अद्भुत सजावट की गई। 5,100 दीपों से जी-20 लिखा गया। गंगा सेवा निधि के सात अर्चकों ने मां गंगा की आरती उतारी। इस दौरान घाट-सीढ़ियों पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। सुरक्षा व्यवस्था के लिए भारी पुलिस बल की तैनाती की गई थी। नित्य संध्या मां गंगा की आरती में तीसरी बार जी-20 डेलिगेट्स शामिल हुए। विगत दिनों वाई-20 के डेलिगेट्स भी इसका गवाह बने थे।

अन्य समाचार

लालमलाल!