मुख्यपृष्ठसमाचारजयपुर में कोचिंग छात्रा से गैंगरेप

जयपुर में कोचिंग छात्रा से गैंगरेप

सामना संवाददाता / जयपुर

जयपुर में किडनैप कर एक कोचिंग छात्रा से गैंगरेप किया गया। कानोता थानाधिकारी गौतम डोटासरा ने बताया कि कानोता निवासी 20 साल की युवती ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है। वह कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी के लिए कोचिंग कर रही है। 29 अप्रैल को उसके मोबाइल पर अनजान लड़के ने वॉट्सऐप मैसेज किया। लिखा- तुझे मेरे बताए टाइम पर मेरी बताई जगह पर आना है। अगर तूने तेरे परिवार व किसी को जानकारी दी तो मैं तेरे भाई को मार दूंगा। डर के मारे अगले दिन 30 अप्रैल को दोपहर डेढ़ बजे युवती घर से एक किलोमीटर दूर बताई जगह पर पहुंच गई।
मौके पर युवती के आगे एक बोलेरो गाड़ी आकर रुकी। इसमें बैठे दो लड़कों ने उसे जबरन बोलेरो में बैठा लिया। एक लड़का उसे बंदूक दिखाकर धमकाने लगा। बोला- तेरी वजह से मेरे दोस्त की जान गई है। अब तेरे साथ भी वही करूंगा, जो मेरे दोस्त के साथ हुआ है। युवती डर गई। आरोपियों को बोली कि तुम लोग जो कहोगे मैं वही करुंगी। मेरे परिवार के साथ कुछ गलत मत करना। करीब एक घंटे बाद दोनों उसे धमकाकर बस्सी छोड़ गए।
एक मई को सुबह होने पर जयपुर रेलवे स्टेशन के पास बोलेरो सवार दोनों आरोपी युवकों ने दोबारा युवती को पकड़ लिया। दोनों बदमाशों ने हाथ-पैर बांधकर उसको बोलेरो गाड़ी में डालकर किडनैप कर लिया। सुनसान जगह पर बोलेरो में दोनों बदमाशों ने युवती के साथ गैंगरेप किया। देर रात पीड़िता को खातीपुरा रेलवे स्टेशन के पास हाथ-पैर बंधकर पटक गए। हाथ-पैर खोलकर कुछ दूरी पर मिले व्यक्ति से मदद मांगी। घर पर फोन किया तो किसी ने नहीं उठाया।
लोगों की मदद से अपने दोस्त को फोन कर बुलाया। वो घर छोड़ने के लिए गाड़ी में बैठाकर ले गया। बीच रास्ते में गाड़ी रोड किनारे खड़ी कर दोस्त भी जबरदस्ती करने लगा। जैसे-तैसे दोस्त से बचकर गाड़ी से निकल गई। रेलवे पटरी के पास पिल्लरों के पीछे छिप गई। पूरी रात पिल्लरों के पीछे छुपकर रात बिताई। मौका मिलने पर तुरंत वहां से भागकर अपनी बुआ के घर पहुंची। डरी-सहमी हालत में होने के कारण पीड़िता अपनी आपबीती नहीं बता पाई। कानोता थाने में 3 मई को पीड़िता ने आपबीती सुनाते हुए मामला दर्ज करवाया।
थानाधिकारी का कहना है कि पीड़िता की शिकायत पर प्राथमिक रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। पीड़िता का कहना है कि गैंगरेप करने वाले दोनों आरोपियों के नाम नहीं जानती है। पीड़िता का मेडिकल करवा दिया गया है। पीड़िता के बयान दर्ज करने के साथ ही बताए गए मोबाइल नंबर की डीवीआर भी निकाली जाएगी।

अन्य समाचार