मुख्यपृष्ठअपराधगणेश उत्सव में गणसेवक देंगे पुलिस का साथ; तैयार किए जाएंगे...

गणेश उत्सव में गणसेवक देंगे पुलिस का साथ; तैयार किए जाएंगे एक लाख लोग

  • हर मंडल से लिए जाएंगे १० से २० स्वंयसेवक

सामना संवाददाता / मुंबई
मुंबई में गणेशोत्सव के दौरान सुरक्षा के लिए पुलिस के साथ एक लाख ‘गणसेवकों’ की फौज तैनात की जाएगी। इसके लिए गणेशोत्सव मंडलों के १० से २० स्वयंसेवकों को पुलिस द्वारा सुरक्षा जागरूकता का पाठ पढ़ाया जाएगा। इससे गणेशोत्सव के दौरान मुंबई की सुरक्षा और भी ‘टाइट’ रहनेवाली है।
अगले सप्ताह से गणेशोत्सव का शुभारंभ हो रहा है। मंडलों की तैयारी भी अंतिम दौर में है लेकिन पिछले कुछ दिनों से मिल रही आतंकी धमकियों की पृष्ठभूमि में गणेशोत्सव के दौरान सुरक्षा के लिहाज से हर तरह की सावधानियां बरतना अनिवार्य हो गया है। मुंबई पुलिस ने हर तरह की सुरक्षा की जिम्मेदारी ली है और ट्रैफिक जाम से बचने के लिए ट्रैफिक पुलिस ने जरूरी प्लानिंग कर ली है। मंडलों के गणपति दर्शन के लिए भीड़ को देखते हुए विशेष सावधानी बरतना आवश्यक हो गया है। गणेशोत्सव समिति के नरेश दहीबावकर ने बताया कि मुंबई पुलिस आयुक्त विवेक फनसलकर, कानून व्यवस्था के सहायक आयुक्त विश्वास नांगरे-पाटील की मौजूदगी में गणेशोत्सव समिति के पदाधिकारियों की बैठक हुई। इस बैठक में पुलिस के साथ-साथ गणसेवकों की फौज तैनात करने का निर्णय लिया गया, जिसमें हर मंडल के १० से २० कार्यकर्ताओं को शामिल कर सुरक्षा से संबंधी ट्रेनिंग दी जाएगी। इन कार्यकर्ताओं को मंडल में भगदड़ से बचने के उपाय, सुरक्षा के दृष्टिकोण से सीसीटीवी कैमरों को लगाना, मंडलों की गाड़ियों पर सुरक्षा के लिहाज से मंडल का नाम वाला स्टीकर, संदेहास्पद लोगों पर नजर रखना, महिलाओं की सुरक्षा के लिए विशेष व्यवस्था, संदेहास्पद सामान की पहचान कर कार्रवाई करना, प्रवेश द्वार पर मेटल डिटेकर, स्वयंसेवकों को विशेष पहचान पत्र दिया जानेवाला है। यह व्यवस्था गणेश उत्सव के साथ-साथ नवरात्रि पर भी रहनेवाली है।

अन्य समाचार