" /> `अवसरों के लिए दरवाजा खुला रखो!’-गौरी टोंक

`अवसरों के लिए दरवाजा खुला रखो!’-गौरी टोंक

रियलिटी शो `नच बलिये-२’ से फेमस हुर्इं और सुपरहिट सीरियल `शक्ति अस्तित्व के एहसास की’ में परमीत सिंह का रोल करनेवाली एक्ट्रेस गौरी टोंक ने अपनी मेहनत से टीवी जगत में एक अच्छा मुकाम हासिल किया। वे न केवल एक सफल अभिनेत्री हैं, बल्कि एक उद्यमी, एक मां और सकारात्मकता पैâलाने वाली इन्फ्लूएन्सर भी हैं। गौरी फिलहाल अपने नए प्रोजेक्ट्स में व्यस्त हैं। जल्द ही गौरी सई देवधर निर्देशित शॉर्ट फिल्म में पुलिस के किरदार में दिखाई देंगी। पेश है, गौरी टोंक से आरती नौटियाल की हुई बातचीत के प्रमुख अंश-

►लॉकडाउन आपके लिए कैसा रहा?
लॉकडाउन के दरम्यान पत्नियों को पता चला कि उनके पति भी खाना बनाने के साथ ही बच्चों को भी संभाल सकते हैं। मैं जेंडर भूमिकाओं में विश्वास नहीं करती हूं। मैने महसूस किया कि यदि पति परिवार को संभालने में बेहतर है, तो उसे घर पर रहना चाहिए। पति-पत्नी को एक-दूसरे की सहायता करते हुए घर के हर काम में हाथ बंटाना चाहिए। इस महामारी ने कई लोगों को सिखाया है कि अपने परिवार के लिए हम क्या कर सकते हैं।

►आप अपने काम और जीवन को कैसे संतुलित करती हैं?
जब मेरी पहली बेटी का जन्म हुआ तो मैंने चार साल तक काम नहीं किया। लेकिन दूसरी बेटी के जन्म के एक साल बाद मैंने अपने काम की शुरुआत की। मेरा यह मानना है कि हमें भविष्य के लिए अपनी योजनाओं को बांधकर नहीं रखना चाहिए, बल्कि उन अवसरों के लिए दरवाजा खुला रखना चाहिए। मुझे कुछ समय के लिए घर पर रहने के निर्णय पर पछतावा नहीं है, क्योंकि एक मां होने और अपनी बेटियों से प्यार करने की खुशी मेरे लिए अपने करियर से अधिक महत्त्वपूर्ण है। मैं अपने काम से बेहद प्यार करती हूं लेकिन उससे पहले मेरा परिवार आता है।

►टीवी इंडस्ट्री में सफलता का रहस्य क्या है?
आज मैं जहां भी हूं उसे हासिल करने के लिए मैंने कड़ी मेहनत की। मेरा मानना है कि अगर आपको खुद पर विश्वास है तो आप कुछ भी कर सकते हैं। यही वजह है कि एक मध्यमवर्गीय परिवार से होने के बावजूद मैं अभिनय क्षेत्र में अपना करियर बनाने में सफल रही।

►इंडस्ट्री में काम करने का आपका अनुभव  कैसा रहा?
मेरा इस इंडस्ट्री में अच्छा अनुभव रहा है। मुझे कभी भी जेंडर डिस्क्रीमिनेशन का सामना नहीं करना पड़ा, जो अक्सर बॉलीवुड में देखा जाता है। मेरा मानना है कि टेलीविजन इंडस्ट्री बेहद विकसित हो गई है और नए विषयों के साथ प्रयोग कर रही है। यहां अभिनेत्री और अभिनेताओं को कुछ नया करने का मौका मिलता है। उन्हें एक ही तरह के चरित्र में ढलने की जरूरत नहीं पड़ती है।

►नवोदित कलाकारों को आप क्या सलाह देना चाहेंगी?
मैं उनसे सिर्फ इतना कहना चाहूंगी कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां से आते हैं? अगर आप अपने दिल से कुछ चाहते हैं, तो आप में आगे बढ़ने का साहस होना चाहिए। हर किसी के जीवन में कठिन समय और अच्छा समय होता है उनमें से कोई भी स्थायी नहीं होता है। कठिन समय से खुद को कैसे निकालना है यह सीखना होगा। अपने अंदर नकारात्मक सोच को जगह न दें।

►आप अपने दर्शकों को क्या संदेश देना चाहती हैं?
दूसरों से प्यार करने और स्वस्थ, अच्छा, चमकदार होने के लिए आत्म-प्रेम आवश्यक है। आत्म-प्रेम आपको अपने और दूसरों में अच्छाई देखने में मदद करता है। आपको अपने लिए समय निकालना चाहिए। ध्यान करना चाहिए, वर्कआउट करना चाहिए या टीवी भी देखना चाहिए। खुश रहने के लिए जो कुछ भी करना है वह करें।