" /> शिवबंधन में गीता जैन!…. मीरा-भायंदर की निर्दलीय विधायक शिवसेना के साथ

शिवबंधन में गीता जैन!…. मीरा-भायंदर की निर्दलीय विधायक शिवसेना के साथ

भाजपा के वरिष्ठ नेता एकनाथ खडसे के राकांपा में शामिल होने के बाद मीरा-भायंदर में भाजपा को और एक झटका मिला। भाजपा की नगरसेविका व मीरा-भायंदर की निर्दलीय विधायक गीता भरत जैन कल शिवसेना में शामिल हो गर्इं। ‘मातोश्री’ निवासस्थान पर शिवसेनापक्षप्रमुख और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गीता जैन को शिवबंधन बांधकर उनका शिवसेना में स्वागत किया।
भाजपा के पूर्व विधायक नरेंद्र मेहता की तानाशाही से तंग आकर गीता जैन ने भाजपा से बगावत करते हुए वर्ष २०१९ में मीरा-भायंदर विधानसभा क्षेत्र निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में उन्होंने नरेंद्र मेहता को बुरी तरह से पराजित किया था। निर्दलीय विधायक होते हुए गीता जैन मीरा-भायंदर मनपा में भाजपा की नगरसेविका के रूप में कार्यरत हैं। भाजपा से बगावत किए जाने पर मनपा में सत्ताधारी भाजपा ने उनका बहिष्कार किया है। भाजपा की इसी राजनीति से तंग आकर गीता जैन ने शिवसेना का भगवा अपने हाथों में ले लिया है। इस मौके पर पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे, ठाणे जिला के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे, शिवसेना सांसद राजन विचारे, शिवसेना प्रवक्ता व विधायक प्रताप सरनाईक, पूर्व विधायक गिल्बर्ट मेंडोंसा भी उनके साथ उपस्थित थे। फिलहाल गीता जैन अकेले ही शिवसेना में शामिल हुई हैं लेकिन भाजपा के कई नगरसेवक उनके संपर्क हैं। जिससे आगामी दिनों में मीरा-भायंदर मनपा में भी राजनीतिक समीकरण में उलट-फेर होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।
मीरा-भायंदर का विकास ही मेरा उद्देश्य
शिवसेनापक्षप्रमुख व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में मीरा-भायंदर का सर्वाधिक विकास करना ही मेरा उद्देश्य है। पार्टी को मजबूत करने के लिए अखंड कार्यरत रहूंगी। मीरा-भायंदर पर शिवसेना का भगवा लहराना यही मेरा लक्ष्य है, ऐसे विचार विधायक गीता जैन ने व्यक्त किए। गीता जैन वर्ष २०१२ व २०१७ में मीरा-भायंदर मनपा चुनाव में दो बार भाजपा से नगरसेविका के रूप में निर्वाचित हुए थीं। २०१४ में उन्हें भाजपा की प्रथम महापौर बनने का भी गौरव मिला था। वर्ष २०१९ के विधानसभा चुनाव में गीता जैन ने भाजपा से बगावत करते हुए नरेंद्र मेहता के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ा और मेहता को करीब १५,३९७ मतों से पराजित किया।
एमबीएमसी में राजनीतिक समीकरण
मीरा-भायंदर मनपा में भाजपा की बहुमत की सत्ता है। भाजपा का ही महापौर, उपमहापौर व ६१ नगरसेवक हैं। वहीं शिवसेना के २२ तथा कांग्रेस के १२ नगरसेवक हैं। मनपा में सत्ता के लिए ४८ सदस्यों की संख्या की आवश्यकता है। बताया जा रहा है कि भाजपा के नगरसेवक मॉरिस रॉड्रिक्स, अश्विन कसोदरिया, परशुराम म्हात्रे, विजय राव सहित करीब १० नगरसेवक गीता जैन के साथ हैं। मीरा-भायंदर में जैन समाज की संख्या लक्षणीय है। जैन के शिवसेना में प्रवेश करने से भाजपा को भारी झटका लगा है।

 गीता जैन मीरा-भायंदर की जनता द्वारा चुनी हुई जन प्रतिनिधि हैं। उनके शिवसेना में प्रवेश से पार्टी की ताकत बढ़ेगी साथ ही शहर के विकास कार्यों में भी उनका सहयोग मिलेगा।
-प्रताप सरनाईक (शिवसेना प्रवक्ता व विधायक)