मुख्यपृष्ठसमाचारदुष्कर्म पर बयान देकर बुरे फंसे गहलोत

दुष्कर्म पर बयान देकर बुरे फंसे गहलोत

सामना संवाददाता / जयपुर
राजस्थान में दुष्कर्म जैसे गंभीर मसले पर बयान से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मुश्किलें बढ़ गई हैं। प्रदेश में सीएम गहलोत के बयान के बाद सियासत गरमा गई है। सीएम गहलोत के इस बयान को लेकर भाजपा उन पर हमलावर हो गई है। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने सीएम गहलोत पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका बयान दुर्भाग्यपूर्ण है।
बता दें कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि अधिकतर रेप के मामले झूठे होते हैं। इससे पहले गहलोत के मंत्री शांति धारीवाल ने राजस्थान को मर्दों वाला प्रदेश बताते हुए दुष्कर्म को लेकर चर्चा की थी। इसी तरह के महिमामंडन के चलते यह स्थिति है कि राजस्थान दुष्कर्म और महिला उत्पीड़न के मामले में पहले स्थान पर आ गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दुष्कर्म को लेकर कहा था कि निर्भया कांड के बाद आरोपियों को फांसी देने की मांग ने जोर पकड़ा। उसके बाद कानून अमल में आया। इससे दुष्कर्म के बाद महिलाओं की हत्या के मामलों में इजाफा हुआ है। देश में यह एक खतरनाक ट्रेंड बन कर उभरा है। दुष्कर्म करने वाले को लगता है कि पीड़िता उसके खिलाफ गवाह बन जाएगी। ऐसे में वह दुष्कर्म भी करता है और हत्या कर देता है। जो रिपोर्ट देशभर से आ रही है। वह बड़ा खतरनाक ट्रेंड है।

अन्य समाचार