मुख्यपृष्ठनए समाचारजनरल डायर सरकार हाय-हाय! ...नारों से गूंजा ठाणे

जनरल डायर सरकार हाय-हाय! …नारों से गूंजा ठाणे

सामना संवाददाता / मुंबई
मामूली बातों की अनुमति लेने के लिए जब देखो दिल्ली का चक्कर लगाते हो, फिर मराठों के आरक्षण के लिए हस्ताक्षर नहीं ला सकते हो क्या? इस तरह गरजते हुए मराठा क्रांति मोर्चा के आंदोलनकारियों ने मुख्यमंत्री एकनाथ को कड़क शब्दों में सुनाते हुए कहा कि थोड़ी भी शर्म होगी तो आगे से खुद का सत्कार स्वीकार नहीं करेंगे। इस दौरान ठाणे में महिला आंदोलनकारियों ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के लिए साड़ियां और चूड़ियां भेजीं और उनके लिए मुख्यमंत्री हाय-हाय…जनरल डायर सरकार हाय-हाय जैसे नारे लगाए। इन नारों से जिलाधिकारी परिसर गूंज उठा।
जालना जिले के आंतरवाली सराटी में शांतिपूर्वक आंदोलन कर रहे मराठा समाज को पुलिस ने जानवरों की तरह पीटा। कई लोगों के सिर फूट गए, खून बहा। इससे महाराष्ट्र में आक्रोश भरी प्रतिक्रियाएं सामने आई हैं। इसी तरह कल ठाणे में मराठा समाज ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस तथा अजीत पवार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इसमें महिलाओं की संख्या अच्छी खासी थी। आक्रोशित महिलाओं ने हाथों में साड़ियां और चूड़ियां लहराते हुए मराठों का खून बहाने वाले मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे हाय-हाय के नारे लगाए। आंदोलनकारियों ने कहा कि मुख्यमंत्री चाहे कितने भी वादे कर लें, मराठा समाज को उन पर थोड़ा भी भरोसा नहीं बचा है। मराठा समाज की मांगों को तुरंत पूरा करना मुख्यमंत्री के हाथ में है। मुख्यमंत्री शिंदे इधर-उधर जाते हैं, दिल्ली का भी चक्कर लगाते हैं। फिर उन्हें दिल्ली जाने और हस्ताक्षर लेने से कोई रोक रहा है क्या? ऐसा सवाल भी आंदोलनकारियों ने किया। उन्होंने यह भी कहा कि हमें पता चला है कि मराठों को आरक्षण तभी मिलेगा, जब दिल्ली में इसके ऊपर हस्ताक्षर होंगे अन्यथा नहीं मिलेगा। इसलिए चेतावनी भी दी गई कि आरक्षण में रोड़ा अटकाने वालों को लेकर वे शांत नहीं बैठेंगे।

अन्य समाचार