मुख्यपृष्ठनए समाचारएक खास समाज को बचाने में जुटी ‘घाती’ सरकार

एक खास समाज को बचाने में जुटी ‘घाती’ सरकार

सामना संवाददाता / नागपुर

छिपाई इस्तीफे की जानकारी, वडेट्टीवार का गंभीर आरोप

विपक्ष के नेता विजय वडेट्टीवार ने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि पिछड़ा वर्ग आयोग को अंधेरे में रखकर एक खास समुदाय को बचाने की कोशिश की जा रही है। उक्त बातें विपक्ष के नेता विजय वडेट्टीवार ने नागपुर में बतार्इं। इससे पहले उन्होंने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर करते हुए इस्तीफा स्वीकारने की जानकारी को छिपाने का आरोप सरकार पर लगाया है।

विजय वडेट्टीवार ने कहा कि चौंकाने वाली खबर आई है कि राज्य के पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष पूर्व न्यायाधीश आनंद निरगुड़े द्वारा चार दिसंबर को दिए गए इस्तीफे को सरकार ने नौ दिसंबर को स्वीकार किया है। राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य एक के बाद एक इस्तीफा दे रहे हैं। अध्यक्ष द्वारा दिए गए इस्तीफे की जानकारी को सरकार ने छिपाकर रखा है। उन्होंने आगे लिखा कि जब विधानसभा का शीतकालीन सत्र चल रहा था, तब सरकार ने सदन में इस बारे में कोई जानकारी क्यों नहीं साझा की? क्या सरकार में सचमुच ऐसा ही चल रहा है? उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को सदन में बताना चाहिए कि राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य और अब अध्यक्ष इस्तीफा क्यों दे रहे हैं?

भय में सत्ता का दुरुपयोग कर रही सरकार

दिशा सालियान की मौत के मामले में एसआईटी बनेगी। इस बारे में बात करते हुए वडेट्टीवार ने कहा कि इस तरह की बदले की राजनीति नहीं करनी चाहिए। फिलहाल, मौजूदा समय में यह राज्य में फल-फूल रहा है। आज आपके हाथ में सत्ता है, कल किसी और के हाथ में होगी। हमें अलग तरीके से सोचना चाहिए और राजनीति करनी चाहिए। हमें बदले की राजनीति नहीं करनी चाहिए। चुनाव का सर्वे महाविकास आघाड़ी के पक्ष में है। वडेट्टीवार ने कहा कि सरकार डर के कारण सत्ता का दुरुपयोग इस तरह से कर रही है।
युवा संघर्ष यात्रा में जाएंगे वडेट्टीवार

इस बीच, विधायक रोहित पवार की ‘युवा संघर्ष यात्रा’ नागपुर में प्रवेश कर चुकी है। इस यात्रा के समापन कार्यक्रम में शरद पवार खुद मौजूद रहेंगे। इस पर बोलते हुए वडेट्टीवार ने कहा कि आज शरद पवार का जन्मदिन है। मेरा भी जन्मदिन है। अगर मुझे उनके जैसे वरिष्ठ नेताओं का आशीर्वाद मिला तो मैं निश्चित रूप से युवा संघर्ष यात्रा में जाऊंगा।

अन्य समाचार