मुख्यपृष्ठअपराधघाव : छुटकारा! ... जान ले सकता है लव का लफड़ा

घाव : छुटकारा! … जान ले सकता है लव का लफड़ा

•  ‘प्यार’ के छलावे में लुट रही हैं लड़कियां

जितेंद्र मल्लाह।  बालिग युवक-युवतियों के प्रेम संबंधों और विवाह को कानूनी संरक्षण भले ही मिल जाता है लेकिन परिजनों की मंजूरी मुश्किल से ही मिल पाती है। इसमें जाति-पाति का भेद और हैसियत से ज्यादा बेटियों के सुरक्षित भविष्य की चिंता मां-बाप को सताती है। श्रद्धा वालकर मर्डर केस ने लव के लफड़े में बेटियों की सुरक्षा संबंधित मां-बाप की चिंता को उजागर किया है। श्रद्धा ने जन्म देनेवाले अपने माता-पिता की जायज चिंताओं की परवाह किए बगैर जिस आफताब को अपना जीवन साथी चुना। उस आफताब ने न सिर्फ उसका बेरहमी से कत्ल किया, बल्कि उसके शव की इतनी दुर्गति कर डाली कि यदि उसे दोबारा महिला का जन्म मिले तब भी वो किसी से प्यार और उस पर शायद ही एतबार कर पाएगी। वैसे ये तो एक श्रद्धा का मामला है, जो इन दिनों सुर्खियों में आया है लेकिन हकीकत में देश-दुनिया के जंगलों और खाड़ियों को ईमानदारी के खंगाला जाए तो ऐसी न जाने कितनी ही और ‘श्रद्धाओं’ के सनसनीखेज मर्डर के खुलासे दुनिया के सामने होंगे, जिनका अनुमान लगाना मुश्किल हो जाएगा।

श्रद्धा वालकर मर्डर केस में आरोपी आफताब को गुनहगार साबित करने के लिए दिल्ली पुलिस कई राज्यों के जंगल, समुद्र और पहाड़ों की खाक छानकर सबूत जुटाने का प्रयास कर रही है। पुलिस ने कुछ इंसानी अंग के हिस्से बरामद किए हैं, जो श्रद्धा के शरीर के टुकड़े हो सकते हैं, ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है। पुलिस आफताब का पॉलिग्राफिक टेस्ट भी करवा रही है। इसी बीच श्रद्धा मर्डर केस से मिलता-जुलता एक और मामला पुणे जिले से सामने आया है।
पेड़े में दिया चूहों का जहर!
पुणे जिले में एक किशोरी को प्रेमी ने शादी का झांसा देकर पहले पहल उसे अपनी हवस का शिकार बनाया। उसके बाद जब किशोरी से उसका मन भर गया तब जहर मिला पेड़ा किशोरी को खिलाकर उसने उसे मौत के घाट उतार दिया।
शादी की जिद पर बना जान का दुश्मन
पुणे जिले के आंबेगाव तालुका अंतर्गत घोडेगांव परिसर में रहनेवाली किशोरी की खुदकुशी का मामला पिछले दिनों सामने आया था। किशोरी के अप्रत्याशित कदम से परिजन हैरान थे। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू की तो पता चला कि उक्त किशोरी का बीते करीब २ वर्षों से एक युवक से प्रेम संबंध चल रहा था। पुलिसिया पूछताछ में मृत किशोरी के प्रेमी युवक ने पहले तो पुलिस को गुमराह करने का प्रयास किया लेकिन बाद में वह टूट गया। प्रेमी युवक ने बताया कि बीते करीब दो वर्षों में उसने शादी का झांसा देकर कई बार किशोरी से जिस्मानी संबंध बनाए थे लेकिन पिछले कुछ दिनों से वह शादी की जिद करने लगी थी, जबकि वह शादी नहीं करना चाहता था। किशोरी की तरफ से शादी का दबाव ज्यादा बढ़ा तो युवक ने उससे छुटकारा पाने की योजना बनाई। उसने पेड़े में जहर मिलाकर किशोरी को जबरन खिला दिया। घोडेगांव पुलिस ने आरोपी प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है।
नर्स के प्यार में कंपाउंडर बना कातिल
पुणे जिले से ही कत्ल की एक और चौंकानेवाली वारदात सामने आई है। यहां पुलिस ने एक अस्पताल के २३ वर्षीय वॉर्ड ब्वॉय को अपनी बीवी को इंजेक्शन द्वारा जहर देकर मारने के आरोप में गिरफ्तार किया है। कत्ल के बाद आरोपी कंपाउंडर ने वारदात को खुदखुशी साबित करने की कोशिश भी की थी लेकिन पोस्टमार्टम में उसकी पोल खुल गई।
पौड पुलिस के अनुसार निजी अस्पताल में काम करनेवाले आरोपी कंपाउंडर का एक सहकर्मी नर्स के साथ अफेयर था। उससे विवाह करने के लिए उसने अपनी पत्नी का कत्ल कर दिया। दुखद पहलू ये है कि आरोपी का मृत युवती से महज ५ महीने पहले ही विवाह हुआ था और यह दंपति मुलशी तहसील के कसार अंबोली गांव में किराए के मकान में रहता था। १४ नवंबर को आरोपी ने ने गंभीर अवस्था में बीमार पत्नी को अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस को मृत युवती के घर से एक सुसाइड नोट भी मिला था, जिसे खुद आरोपी ने लिखा था और उस पर उसने अपनी मृत पत्नी के फर्जी हस्ताक्षर किए थे।
जांच में उसकी पोल खुल गई। पता चला कि आरोपी ने वेकोरोनियम ब्रोमाइड, नाइट्रोग्लिसरीन इंजेक्शन और लॉक्स २ प्रतिशत समेत कुछ ड्रग्स और इंजेक्शन उस हॉस्पिटल से चुराए थे, जहां वह काम करता था। उसने पत्नी को वही इंजेक्शन देकर उसका कत्ल किया था।

अन्य समाचार