मुख्यपृष्ठसमाचारमहिला से सामूहिक दुष्कर्म आरोपियों को कड़ी सजा देकर पीड़िता को न्याय...

महिला से सामूहिक दुष्कर्म आरोपियों को कड़ी सजा देकर पीड़िता को न्याय दे : डॉ. मनीषा कायंदे

शिवसेना के तीन सदस्यीय शिष्टमंडल ने पीड़ित से की मुलाकात

सामना संवाददाता / नागपुर
भंडारा जिले में एक असहाय महिला को मदद के बहाने तीन लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म कर उसे नग्न अवस्था में सड़क पर फेंके  जाने की घटना ५ अगस्त को घटी थी। गोंदिया जिले की रहनेवाली और घरेलू विवाद के चलते बहन के साथ रहनेवाली ३५ वर्षीया महिला को भंडारा जिले के कारधा जंगल में ले जाकर तीन लोगों ने हवस का शिकार बनाया और उसके बाद बेहोश होने पर फेंके दिया था। उक्त घटना कारधा पुलिस स्टेशन की हद में घटी थी।
पीड़ित महिला का फिलहाल नागपुर के सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा है। घटना दिल्ली के निर्भया कांड जैसी ही है। इस घटना के बाद शिवसेना की विधायक डॉ. मनीषा कायंदे के नेतृत्व में सुषमा अंधारे और प्रवक्ता संजना घाडी ने कल (७ अगस्त) को नागपुर के सरकारी अस्पताल का दौरा किया और मरीज की स्थिति और उसे दिए जा रहे उपचार के बारे में नागपुर सरकारी मेडिकल कॉलेज के डॉ. सुधीर गुप्ता से जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने नागपुर-गढ़चिरौली मंडल के विशेष महानिरीक्षक संदीप पाटील से मुलाकात कर जांच संबंधी निवेदन दिया।

शिष्टमंडल ने उक्त मांगें कीं
१) पीड़ित महिला को मनोधाय योजना के माध्यम से तत्काल वित्तीय सहायता एवं परामर्श दिया जाना चाहिए।
२) आरोपी को तुरंत गिरफ्तार किया जाए।
३) मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई होनी चाहिए और पीड़िता को तत्काल न्याय मिलना चाहिए।
४) भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए आवश्यक उपाय किए जाने चाहिए।
इस अवसर पर नागपुर युवा सेना के जिलाध्यक्ष विक्रम राठौड़, किशोर कुम्हेरिया, नितिन सोलंकी जिला समन्वयक, वंदना लोणकर जिला संयोजक रामटेक सहित जिले के महत्वपूर्ण अधिकारी मौजूद थे।

अन्य समाचार