मुख्यपृष्ठनए समाचारगोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड परियोजना : सफर होगा ‘शॉर्टकट'

गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड परियोजना : सफर होगा ‘शॉर्टकट’

• डेढ़ घंटे की यात्रा २० मिनट में मनपा आमंत्रित करेगी निविदा रु. ४,७०० करोड़ होंगे खर्च
सामना संवाददाता / मुंबई
मनपा की महत्वाकांक्षी परियोजना गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड का काम एक बार फिर रफ्तार पकड़ने जा रहा है। इस परियोजना के तहत संजय गांधी नेशनल पार्क के भीतर दो बड़ी सुरंग की खुदाई के लिए मनपा फिर से निविदा आमंत्रित करने जा रही है। नई कंपनी को ठेका देने के साथ ही सुरंग खुदाई का काम तुरंत शुरू कर दिया जाएगा। इस परियोजना से गोरेगांव से मुलुंड का सफर ‘शॉर्टकट’ हो जाएगा। मौजूदा समय में ट्रैफिक के बीच इस दूरी को तय करने के लिए लोगों को डेढ़ घंटे का समय लगता है। मनपा की इस परियोजना के पूर्ण होने पर यह दूरी महज २० से २५ मिनट में तय हो सकेगी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गोरेगांव मुलुंड लिंक रोड के लिए मनपा ने पहले ही टेंडर जारी किया था लेकिन पुराने ठेकेदार की कंपनी दिवालिया हो जाने के कारण मनपा को अब नए ठेकेदार की तलाश है। इसलिए मनपा अगले महीने संजय गांधी नेशनल पार्क में सुरंग खुदाई के लिए निविदा आमंत्रित करेगी। मनपा के अतिरिक्त आयुक्त ने कहा कि अगले एक से डेढ़ महीने में निविदा आमंत्रित की जाएगी, जिसके तहत दो सुरंगों की खुदाई का काम होगा। सुरंगों के लिए संजय गांधी नेशनल पार्क में १९.४५ हेक्टेयर भूखंड प्रभावित होगा। यहां २० से २०० मीटर के नीचे तक सुरंग की खुदाई होगी। मनपा इन सुरंगों की खुदाई में भी टीबीएम मशीन का उपयोग करेगी।

कैसी होगी परियोजना?
पूर्वी और पश्चिमी एक्सप्रेस हाइवे को जोड़नेवाली इस १२ किमी लंबी सड़क परियोजना को मनपा ४,७०० करोड़ रुपए की लागत से बना रही है। इसके तहत दो सुरंगें बनेंगी। एक ४.७५ किमी लंबी और दूसरी सुरंग १.६ किमी लंबी होगी। साथ ही जानवरों को तकलीफ न हो, इसके लिए ६ किमी के दो बड़े पुल बनाए जाएंगे और २ किमी सड़क का चौड़ीकरण का काम होगा। यह काम मार्च में ही शुरू कर दिया गया है।

प्रभावितों का होगा पुनर्वसन
इस परियोजना में प्रभावितों के लिए मनपा एलबीएस मार्ग पर घर बनाएगी। यहां २० मंजिला इमारत बनाने का प्रस्ताव है। योजना प्रभावितों के लिए पुनर्वसन के लिए घर बनाने का पैâसला किया गया है।

अन्य समाचार