मुख्यपृष्ठटॉप समाचारगुजरात बना नशे का गढ़! मुंबई पुलिस ने किया पर्दाफाश, `१,०२६ करोड़...

गुजरात बना नशे का गढ़! मुंबई पुलिस ने किया पर्दाफाश, `१,०२६ करोड़ का ड्रग्स जप्त

सामना संवाददाता / मुंबई
देश की युवा पीढ़ी को नशा बर्बाद कर रहा है। इसमें ड्रग्स का प्रमुख रोल है। हालांकि ड्रग्स को पकड़ने व उसका खात्मा करने के तमाम दावे केंद्रीय  एजेंसियां करती हैं, पर सच तो ये है कि ड्रग्स का कारोबार खूब फल-फूल  रहा है। गुजरात के कांडला पोर्ट पर अभी तक ड्रग्स की दो बड़ी कंसाइनमेंट पकड़ी जा चुकी हैं। अब कल मुंबई पुलिस ने गुजरात में एक ड्रग्स फैक्ट्री पर छापा मारकर १,०२६ करोड़ रुपए के ड्रग्स की खेप पकड़ी है। इससे स्पष्ट है कि शराबबंदी वाला राज्य गुजरात नशे का गढ़ बनता जा रहा है।
बता दें कि नशे के सौदागरों के खिलाफ मुंबई पुलिस की ‘एएनसी’ (एंटी नारकोटिक्स सेल) ने कल एक बड़ी कार्रवाई की है। एएनसी की वर्ली यूनिट ने गुजरात के भरूच जिले के अंकलेश्वर इलाके में खुफिया जानकारी के आधार पर छापेमारी की और इस ड्रग फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। अधिकारियों ने बताया कि एएनसी की छापेमारी के दौरान लगभग ५१३ किलोग्राम एमडी ड्रग्स बरामद की गई। जप्त किए गए ड्रग्स की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में १,०२६ करोड़ रुपए है। इसके साथ ही एक महिला समेत ७ आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बता दें कि एमडी ड्रग्स को ‘मेफेड्रोन’ या ‘म्याऊं म्याऊं’ भी कहा जाता है। यह ‘एनडीपीएस’ अधिनियम के तहत प्रतिबंधित है। गौरतलब है कि इसके पहले गत अप्रैल में गुजरात के कांडला पोर्ट पर १,३०० करोड़ रुपए का ड्रग्स पकड़ा गया था। इसके पिछले साल भी कांडला पोर्ट पर एक शिप में विदेश से आया २२,००० करोड़ रुपए का ड्रग्स जप्त किया गया था। इसके बाद सोशल मीडिया पर तमाम तरह के सवाल लोगों ने उठाए थे। गुजरात में बार-बार ड्रग्स की बड़ी-बड़ी खेप पकड़े जाने के बाद लोग सोशल मीडिया पर तमाम तरह के सवाल उठाने लगे हैं।

अन्य समाचार