मुख्यपृष्ठखबरेंराणे के ‘अधीश’ पर हथौड़ा चलना तय!

राणे के ‘अधीश’ पर हथौड़ा चलना तय!

 अवैध निर्माण को नियमित करने से मनपा का इंकार
 दस्तावेज सुपुर्द करने के लिए फिर दिया मौका
सामना संवाददाता / मुंबई। केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के जुहू स्थित अधीश बंगले में अवैध निर्माण को नियमित करने से मुंबई महानगर पालिका ने इंकार कर दिया है। मनपा ने कहा है कि राणे की ओर से वास्तविक दस्तावेज पेश नहीं किया गया है। राणे को मनपा ने एक और मौका देते हुए दोबारा सभी दस्तावेज पेश करने को कहा है। इस मामले में राणे को नोटिस दी गई है, इससे स्पष्ट माना जा रहा है कि राणे के बंगले पर मनपा का हथौड़ा चलना तय है और मनपा राणे के बंगले पर अब कार्रवाई के लिए पूरी तरह तैयार है।
कई विभागों के एनओसी नहीं
राणे ने ‘अधीश’ बंगले में अवैध निर्माण को नियमित करने के संदर्भ में मनपा के पास कोई भी कागज पत्र पेश नहीं किया है। अब तक जो कागजात राणे ने मनपा को सौंपा है उसमें बंगले में अतिरिक्त निर्माण के लिए एफएसआई का कोई उल्लेख नहीं किया है। उक्त अवैध निर्माण के लिए मनपा के फायर विभाग की कोई एनओसी भी नहीं है। प्रॉपर्टी कर विभाग का कोई एनओसी नहीं है और टाइटल क्लियरेंस सर्टिफिकेट के लिए भी पूर्ण दस्तावेज नहीं जमा कराया गया है। मनपा ने स्पष्ट किया है। यदि दस्तावेज जमा नहीं कराया गया तो निश्चित कार्रवाई शुरू की जाएगी।
राणे दस्तावेज जमा कराने में फेल
मनपा के बिल्डिंग प्रपोजल विभाग की ओर से ‘अधीश’ बंगले के अवैध अतिरिक्त निर्माण को नियमित करने के लिए राणे कोर्ट में गए थे। कोर्ट ने भी आदेश दिया था कि मनपा इस मामले की उचित छान-बीन करे। मनपा ने कोर्ट के आदेश के अनुसार राणे से दस्तावेज पेश करने के निर्देश दिए थे लेकिन जरूरी दस्तावेज उपलब्ध नहीं होने की वजह से पुन: नोटिस जारी कर दस्तावेज उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।

अन्य समाचार