मुख्यपृष्ठग्लैमर‘हर-हर शंभू' ये हैं ओरिजिनल सिंगर

‘हर-हर शंभू’ ये हैं ओरिजिनल सिंगर

लोक गायिका फरमानी नाज अपने ताजा शिव भजन ‘हर-हर शंभू’ के कारण विवादों में घिर गई हैं। उनके खिलाफ फतवा जारी हो गया है और उन्हें ‘सर तन से जुदा’ की धमकियां मिल रही हैं। लेकिन असल बात ये हे कि वे इस गाने की ओरिजिनल सिंगर नहीं हैं। उन्होंने तो बस किसी और सिंगर के इस वायरल भजन को कॉपी किया है। ‘हर-हर शंभू’ की ओरिजिनल सिंगर अभिलिप्सा पांडा हैं, जिन्होंने सावन से ठीक पहले इस शिव भजन को रिकॉर्ड किया था। बेहद कम समय में यह इस कदर वायरल हुआ कि अभिलिप्सा रातोंरात सिंगिंग सेंसेशन बन गर्इं। उनका मानना है कि इस गाने की लोकप्रियता में सबसे बड़ा योगदान सोशल मीडिया का है। अभिलिप्सा पांडा मूल रूप से ओडिशा के देवगढ़ से हैं, लेकिन रहतीं क्योंझर जिले में हैं। उनके पिता रिटायर फौजी हैं और मां टीचर हैं। ये उन्हें जिंदगी के क्षेत्र में हमेशा आगे बढ़ने में पूरा सपोर्ट करते हैं। अभिलिप्सा कहती हैं कि उन्हें कला विरासत में मिली है। उनके दादा रविनारायण पांडा वेस्टर्न ओडिशा के फेमस  कथाकार रह चुके हैं। उनकी मां हिंदुस्थानी क्लासिकल और ओडिशी डांस में विशारद हैं। उनके पिता भी कला से करीब से जुड़े हुए हैं। संगीत के साथ-साथ अभिलिप्सा की रुचि स्पोट्र्स और डांस में भी है। वे मार्शल आर्ट-कराटे में एक्सपर्ट हैं और कराटे में ब्लैक बैल्ट हासिल कर चुकी हैं। २०१९ में उन्होंने नेशनल लेवल पर हुई कराटे चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था। वे क्लासिकल ओडिसी डांसर भी हैं। अभिलिप्सा स्टेट लेवल की डिबेटर और क्विजर भी रह चुकी हैं। संगीत, स्पोट्र्स, डिबेट, डांस के अलावा वे ट्रैवलिंग का शौक भी रखती हैं। अभिलिप्सा की मानें तो वे संगीत को बेहद अहम मानती हैं और ८ भाषाओं में गाने गा सकती हैं। उनकी पसंदीदा कलाकारों में गीता दत्त और सुनिधि चौहान शामिल हैं। फिलहाल अभिलिप्सा पांडा कॉलेज में चौथे वर्ष की छात्रा हैं और संगीत के साथ-साथ पढ़ाई पर भी फोकस कर रही हैं। ‘हर-हर शंभू’ के अलावा अभिलिप्सा ‘भोलेनाथ जी’ और ‘मंजिल केदारनाथ’ जैसे भजनों को भी आवाज दे चुकी हैं।

अन्य समाचार