मुख्यपृष्ठनए समाचार‘ईडी’ सरकार ने महाराष्ट्र के टुकड़े करने की सुपारी ली है क्या?

‘ईडी’ सरकार ने महाराष्ट्र के टुकड़े करने की सुपारी ली है क्या?

सामना संवाददाता / मुंबई
महाराष्ट्र के सोलापुर, अक्कलकोट व जत तालुका के गांवों पर कर्नाटक ने दावा किया है। यह दावा हास्यास्पद है। कर्नाटक की भाजपा सरकार की यह चालाकी महाराष्ट्र बर्दाश्त नहीं करेगा। कर्नाटक सीमा विवाद सुप्रीम कोर्ट में प्रलंबित होते हुए, महाराष्ट्र के गांव पर दावा करना सरासर गलत है। राज्य की शिंदे-फडणवीस यानी ‘ईडी’ सरकार ने पहले ही राज्य की महत्वपूर्ण परियोजनाओं को भाजपा शासित प्रदेश गुजरात और मध्य प्रदेश भेज दी हैं। अब कर्नाटक महाराष्ट्र के गांवों पर दावा कर रहा है। यह महाराष्ट्र को चारों तरफ से दबाने की योजना तो नहीं हैं। शिंदे-फडणवीस सरकार महाराष्ट्र के टुकड़े करने की सुपारी ली है क्या? ऐसा संतप्त सवाल कांग्रेस प्रदेश के अध्यक्ष नाना पटोले ने किया है।
नाना पटोले ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री की खिंचाई करने के साथ ही राज्य की शिंदे-फडणवीस सरकार पर जमकर निशाना साधा। बेलगाव, कारवार, निपाणी का सवाल अभी हल नहीं हुआ, उसके पहले ही महाराष्ट्र के चालीस गांवों पर दावा करके कर्नाटक ने गलती की है। सीमा विवाद का मुद्दा अभी सुप्रीम कोर्ट में प्रलंबित रहते हुए भाजपा के मुख्यमंत्री का इस तरह का बयान देना अत्यंत गलत है। महाराष्ट्र में ५ महीने पहले आई ‘ईडी’ सरकार ने महाराष्ट्र के सर्वांगीण प्रगति को रोक दिया है। राज्य की बड़ी परियोजनाएं गुजरात और मध्य प्रदेश इन भाजपा शासित राज्यों में चली गर्इं, महत्वपूर्ण कार्यालय गुजरात जा रहे हैं। राज्य के पानी को गुजरात को दिया जा रहा है। अब कर्नाटक महाराष्ट्र के गांवों पर अपना दावा कर रहा है। दिल्ली के इशारे पर शिंदे सरकार चला रहे है, जिसके कारण राज्य का भारी नुकसान हो रहा है, ऐसा आरोप पटोले ने लगाया।

अन्य समाचार