मुख्यपृष्ठनए समाचारमलबार हिल में मौज ही मौज! एलिवेटेड वॉकवे से जंगल की सैर

मलबार हिल में मौज ही मौज! एलिवेटेड वॉकवे से जंगल की सैर

  • पर्यटक जीव-जंतुओं एवं प्रकृति से होंगे रू-बरू

रामदिनेश यादव / मुंबई
देश की आर्थिक राजधानी मुंबई का सबसे पॉश इलाका है मलबार हिल। शायद ही किसी को पता होगा कि इस हरे-भरे इलाके में कुल १२ एकड़ जंगल है। लुप्त हो रहे इस जंगल को मनपा स्थानीय संस्थाओं के साथ मिलकर फिर से जीवंत करेगी। साथ ही यहां पहाड़ी पर टूरिज्म बढ़ाने के दृष्टि से एलिवेटेड वॉकवे और लकड़ी का पुल बनाया जाएगा, ताकि पर्यटक प्रकृति का खुलकर आनंद ले सकें। इसके साथ ही पर्यटक पेड़-पौधे, फूल, पक्षी, तितलियों तथा अन्य जीव-जंतुओं से रू-बरू हो सकेंगे। मनपा इसके लिए १६ करोड़ रुपए खर्च कर रही है। आगामी दिसंबर महीने तक यह परियोजना पूरी होने की उम्मीद है।
निजी संस्थाओं ने बढ़ाया हाथ
स्थानीय लोगों और प्रकृति प्रेमियों के बीच लोकप्रिय होने के बावजूद यह जंगल बदहाली और उपेक्षा का शिकार हो रहा था। मलबार हिल का नेपियनसी रोड रेजिडेंट्स फोरम १२ एकड़ में फैले जंगल के संरक्षण और बहाली के लिए प्रयास कर रहा है। फोरम ने हरित परियोजना को पूरा करने के लिए मनपा के साथ-साथ अन्य निजी संस्थानों के साथ हाथ मिलाया है, जिसके बाद मनपा के डी वॉर्ड ने उक्त क्षेत्र के विकास के लिए प्रस्ताव लाकर पुनर्विकास योजना के काम को शुरू किया है।
बनेगा विशेष पुल
योजना के तहत यहां एक ऊंचा घुमावदार लकड़ी का बड़ा लंबा पुल बनाया जाएगा। इसके साथ ही ७०५ मीटर लंबा एलिवेटेड वॉकवे बनाया जाएगा, जिसके माध्यम से आगंतुकों को जंगल की पूरी सैर करने का मौका मिलेगा। क्षेत्र को बाउंड्री से घेरा जाएगा। दोनों तरफ निकासी और प्रवेश के लिए द्वार बनाया जाएगा। दक्षिण में बाबुलनाथ मंदिर से १९२-कदम सीढ़ी और दक्षिण-पश्चिम में ह्यूजेस रोड बस स्टॉप क्षेत्र से पहाड़ी में उकेरी गई सीढ़ी को परियोजना के हिस्से के रूप में जोड़ा जाएगा। यहां जंगल में एक भी पेड़ को नुकसान पहुंचाए बिना रास्ते बनाए जाएंगे। स्ट्रीट लाइट लगाई जाएगी। सीसीटीवी कैमरों का एक नेटवर्क परिसर की बेहतर निगरानी सुनिश्चित करेगा।
पहाड़ी का हो रहा था क्षरण
फोरम के अध्यक्ष राहुल कादरी ने बताया कि यहां १२ एकड़ का जंगल लुप्त हो रहा था। बरसात में लगातार मिट्टी के कटाव के कारण पहाड़ी भी कम हो गई है, जिसके चलते ढलाने बढ़ गई हैं। नतीजतन, बरसाती मौसम में यह खतरनाक साबित हो जाता है। इस जंगल के बचाव के लिए फोरम ने कदम बढ़ाया है। इसका विकास होने के बाद मलबार हिल वासियों के लिए यह वरदान साबित होगा तो वहीं पर्यटकों के लिए एक विशेष स्थल के रूप में उभरेगा।

अन्य समाचार