वो मिलता है

वो अक्सर मैकदे में मिलता है
फिर भी कायदे से मिलता है
नशे में था सच बता ही दिया
कि रिश्ता फायदे से मिलता
होश के वायदे से मुकर जाता है
क्या उसे वायदे से मिलता है
इल्म है कि कोई उसका नहीं
फिर भी बाकायदे से मिलता है
देशहित में मय पी लेता है
दुश्मन अलकायदे से मिलता है
वो अक्सर मैकदे में मिलता है
फिर भी कायदे से मिलता है

-सिद्धार्थ गोरखपुरी

अन्य समाचार