मुख्यपृष्ठनए समाचारलोकतंत्र की हत्या जारी है... विपक्ष का केंद्र सरकार पर हल्लाबोल

लोकतंत्र की हत्या जारी है… विपक्ष का केंद्र सरकार पर हल्लाबोल

सोनिया गांधी बोलीं, `लोकतंत्र का गला घोंटा गया’
खड़गे की खरी-खरी, `एक पार्टी शासन, लोकतंत्र खत्म करने जैसा’
सामना संवाददाता / नई दिल्ली
पिछले कई दिनों से संसद के दोनों सदनों में निलंबन का जो सिलसिला देखने को मिला, वह वाकई शर्मिंदगी से भरा था। सांसदों के निलंबन का सिलसिला लगभग एक हफ्ते से लगातार जारी है। इसी क्रम में लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला ने सदन की अवमानना के मामले में कल यानी २० दिसंबर को भी २ और सांसदों को निलंबित कर दिया। इनमें कांग्रेस सांसद सी थॉमस और सीपीआईएम के एएम आरिफ शामिल हैं। इसके साथ ही निलंबित सांसदों की कुल संख्या १४३ हो गई है। ऐसे में लोकतंत्र की हत्या अभी भी जारी है। निलंबन का यह सिलसिला यही दिखाता है कि मोदी सरकार विपक्षमुक्त संसद देखना चाहती है और यही वजह है कि सीधे सवाल पूछनेवालों को सस्पेंड किया जा रहा है। ये घटना देश और देशवासियों के लिए चिंता का विषय है। लोकतंत्र की होनेवाली हत्या को लेकर कांग्रेस संसदीय दल (सीपीपी) की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बुधवार को संसद से सांसदों के निलंबन को लेकर केंद्र की भाजपा नीत सरकार की आलोचना की और कहा कि लोकतंत्र का गला घोंट दिया गया है। साथ ही उन्होंने `इतिहास को विकृत करने’ के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की आलोचना भी की।
गौरतलब है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, `वे एक अकेले की बात करते हैं, जो लोकतंत्र को खत्म करने जैसा है। विपक्षी सांसदों को निलंबित करके उन्होंने ठीक ऐसा ही किया है। संसद की सुरक्षा में चूक को लेकर उच्च पद पर बैठे लोगों को दंडित करने के बजाय विपक्षी सांसदों के लोकतांत्रिक अधिकारों को छीन लिया गया। ऐसा करके वे जवाबदेही से बच रहे हैं।’ इसके अलावा मोदी सरकार पर सवाल बोलते हुए खड़गे ने केंद्र से सवाल पूछा कि भाजपा सांसद प्रताप सिम्हा से पूछताछ क्यों नहीं की गई।

मोदी सरकार पर गरजे राहुल
मिमिक्री मसले पर इतनी चर्चा क्यों?
लोकसभा में हुई चूक को लेकर बवाल और विवाद जारी है। इसी घमासान के बीच राहुल गांधी ने बयान दिया है। राहुल गांधी ने कहा कि हमारे सांसदों को सदन के बाहर कर दिया गया। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ, लेकिन मीडिया में चर्चा मिमिक्री की है। ये बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मिमिक्री विवाद पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा, `सांसद वहां बैठे थे, मैंने उनका वीडियो शूट किया। मेरा वीडियो मेरे फोन पर है। मीडिया इसे दिखा रहा है। किसी ने कुछ नहीं कहा। राहुल गांधी ने कहा कि इतनी भारी संख्या में निलंबित किए गए सांसदों पर कोई चर्चा नहीं हो रही है। अडानी पर कोई चर्चा नहीं, राफेल पर कोई चर्चा नहीं, बेरोजगारी पर कोई चर्चा नहीं। हमारे सांसद निराश होकर बाहर बैठे हैं, लेकिन आप उस (मिमिक्री) पर चर्चा कर रहे हैं।

अन्य समाचार