मुख्यपृष्ठसमाचारज्ञानवापी परिसर में मिली शिवलिंग की नियमित पूजा को लेकर दायर याचिका...

ज्ञानवापी परिसर में मिली शिवलिंग की नियमित पूजा को लेकर दायर याचिका की सुनवाई अब ५ सितंबर को

उमेश गुप्ता / वाराणसी

ज्ञानवापी परिसर के सर्वे के दौरान वजूखाने में मिली शिवलिंगनुमा आकृति की नियमित पूजा को लेकर दायर याचिका की सुनवाई मंगलवार को पूरी हो गई। सिविल जज सीनियर डिविजन, फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई के दौरान प्रतिनादी अंजुमन इंतजामिया मस्जिद कमेटी की ओर से अदालत से ७ नवंबर की तिथि देने के लिए अर्जी पेश की। इस पर सिविल जज सीनियर डिविजन, फास्ट ट्रैक कोर्ट ने सुनवाई की अगली तिथि ५ सितंबर नियत कर दी।
बता दें कि ज्ञानवापी प्रकरण को लेकर चल रही न्यायिक कार्यवाही के तहत मंगलवार को सिविल जज सीनियर डिविजन, फास्ट ट्रैक अदालत में भगवान आदि विश्वेश्वर विराजमान किरन सिंह विसेन व अन्य बनाम उत्तर प्रदेश राज्य व अन्य मुकदमा नंबर ७१२/२०२२ पर सुनवाई हुई। अदालत ने प्रतिवादी की अर्जी पर गौर करते हुए अगली तिथि ५ सितंबर नियत कर दी। ज्ञानवापी प्रकरण में परिसर में सर्वे के दौरान मिली शिवलिंगनुमा आकृति की नियमित पूजा की अनुमति के बाबत वादी हिंदू पक्ष की ओर से लगातार नियमित पूजन-अर्चन की इजाजत देने को लेकर याचिका दायर की जा रही है। इस मसले पर सबसे पहले काशी विश्वनाथ मंदिर के महंत डॉ. कुलपति तिवारी ने अर्जी दायर की। फिर स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद की ओर से एक अर्जेंट प्रकार की याचिका जून में जिला जज की अदालत में दायर की गई थी, जिसे अदालत ने खारिज कर दिया था। उसके बाद पुन: जुलाई में स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद की ओर से याचिका सिविल जज की अदालत में दायर की गई है। इस तरह की याचिका भगवान आदि विश्वेश्वर विराजमान किरन सिंह विसेन व अन्य बनाम उत्तर प्रदेश राज्य व अन्य मुकदमा नंबर ७१२/२०२२ सिविल जज सीनियर डिविजन, फास्ट ट्रैक अदालत में दायर की गई है। इसी पर आज सुनवाई हुई जिसके बाद अदालत ने ५ सितंबर की तिथि नियत कर दी।

अन्य समाचार