मुख्यपृष्ठनए समाचारज्ञानवापी परिसर में हुए एएसआई सर्वे रिपोर्ट मामले में 3 जनवरी तक...

ज्ञानवापी परिसर में हुए एएसआई सर्वे रिपोर्ट मामले में 3 जनवरी तक के लिए टली सुनवाई

उमेश गुप्ता / वाराणसी

ज्ञानवापी में हुए ASI सर्वे की रिपोर्ट कोर्ट में पेश होने के पश्चात वादिनि को सौंपे जाने की मांग और मुस्लिम पक्ष की याचिका पर आज होने वाली सुनवाई टल गई। इस मामले में अगली सुनवाई जिला जज अजय कृष्ण विश्वेश ने तीन जनवरी की तारीख नियत की है। दरअसल, कचहरी में अधिवक्ताओं के कार्य बहिष्कार की वजह से कोर्ट में सुनवाई नहीं हो सकी। ऐसे में सुनवाई के लिए अगली तारीख नियत किया गया है। जिला जज डॉ अजय कृष्ण विश्वशेश की अदालत में दो सील बंद लिफाफे में दाखिल ज्ञानवापी की सर्वे रिपोर्ट को सार्वजनिक किए जाने पर आज फैसला आना था। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने 18 दिसंबर को रिपोर्ट दाखिल की थी। अदालत में सुनवाई की तिथि आज निर्धारित थी। अधिवक्ताओं के कार्य बहिष्कार की वजह से अदालत ने इस मामले की सुनवाई 3 जनवरी तिथि नियत की है। आप को बता दे कि हिंदू पक्ष ने जहां सर्वे रिपोर्ट की प्रति तत्काल दिए जाने का अनुरोध किया है, वहीं मुस्लिम पक्ष ने आपत्ति जताई है। मुस्लिम पक्ष का कहना है कि रिपोर्ट की प्रति यह शपथ पत्र लेकर दी जाए कि वह लीक नहीं की जाएगी। रिपोर्ट की मीडिया कवरेज पर भी रोक लगाने की मांग रखी गई है। जिला जज की अदालत के आदेश से ज्ञानवापी में एएसआई ने बीते 24 जुलाई को सर्वे शुरू किया था। सर्वे, रिपोर्ट तैयार करने और उसे अदालत में दाखिल करने में 153 दिन लग गए। एएसआई की ओर से सर्वे रिपोर्ट के साथ ही जिलाधिकारी को सुपुर्द किए गए साक्ष्य की सूची भी अदालत में दाखिल की गई है। साथ ही एक प्रार्थना पत्र भी अदालत में दिया गया है, जिसमें यह बताया गया है कि एएसआई ने सर्वे का काम कैसे किया है।

अन्य समाचार