" /> स्मृति सागर रस की गोली खाएं कमजोर पड़ती याददाश्त को मजबूत बनाएं

स्मृति सागर रस की गोली खाएं कमजोर पड़ती याददाश्त को मजबूत बनाएं

पिछले वर्ष अगस्त, २०२० में बुखार हुआ था। टाइफाइड निदान होने पर मैं दवाई आदि लेकर ठीक हो गया परंतु मुझे पिछले सप्ताह से हल्का बुखार, शरीर में दर्द व पेट भारी लग रहा है। कहीं मुझे दोबारा टाइफाइड तो नहीं हो गया
-ओम प्रकाश, एरोली
आज की परिस्थिति में ये आवश्यक है कि आप अपना कोविड-१९ टेस्ट कराएं। आप अपना आरटीपीसीआर टेस्ट सीआरपी, सीबीसी एवं चेस्ट एक्सरे किसी प्रयोगशाला में करवाएं। जिन लक्षणों का आपने उल्लेख किया है वो कुछ हद तक कोविड-१९ संक्रमण के लक्षणों में से हैं। आपको लग रहा है कि यह टाइफाइड है इस भ्रम से आप अपने को दूर रखें व डॉक्टर के निरीक्षण में अपना इलाज कराएं तो बेहतर होगा। प्राथमिक चिकित्सा के स्वरूप आप गुडूची घनवटी व महासुदर्शन घन वटी की दो-दो गोली दिन में तीन बार लें। गर्म पानी पीएं। खाना हल्का व सुपाच्य खाइए।
मेरी उम्र ५८ वर्ष है और मेरे बाएं हाथ में झुनझुनी के साथ ही दर्द भी रहता है। मुझे बॉर्डर लाइन पर ब्लड प्रेशर की भी तकलीफ है। झुनझुनी के कारण काम नहीं कर पाता हूं। मुझे उपचार बताएं?
– महानंद तिवारी, जोगेश्वरी
यह वातव्याधि का लक्षण है। ४० वर्ष से ऊपरवालों के हाथ एवं पैरों में प्राय: झुनझुनी देखी जाती है, जो कई बार कम या ज्यादा होती रहती है। आधुनिक चिकित्सा शास्त्र के अनुसार ज्ञान तंतु व नाड़ी तंतुुओं में क्षोभ व दबाव पड़ने के कारण यह लक्षण होता है। आपके बताए अनुसार आपको सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस मन्यागात वात हुआ है। आप अपने गले का सर्वाइकल एक्सरे करवा लें। उस रिपोर्ट में कोई असाधारण बात हो तो हमें पुन: लिखें या आप अपने पैâमिली डॉक्टर से सलाह व मार्गदर्शन लें। योगराज गुग्गुल, आरोग्यवर्धिनी वटी की दो-दो गोलियां दिन में तीन बार गर्म पानी से लें। भोजन के बाद महारास्नादि क्वाथ ६-६ चम्मच दो बार समप्रमाण पानी मिलाकर पीएं। हाथों की नारायण तेल से मालिश और सेंक करें। यह औषधि आप नियमित रूप से ३ से ४ माह तक करें। अपने ब्लड प्रेशर की नियमित जांच कराते रहें। यदि आप मोटे हैं तो अपना वजन भी कम करने की कोशिश करें। फास्ट फूट, दिन में सोना आदि बंद करें।
मेरी उम्र ३५ वर्ष है और मैं डाटा एंट्री का काम करता हूं। १२ से १४ घंटे कंप्यूटर व मोबाइल पर काम करना पड़ता है। पिछले कुछ दिनों से ऐसा लग रहा है कि मेरी याददाश्त कम होती जा रही है। याददाश्त बढ़ाने के लिए दवा बताएं?
– सुधीर गुप्ता, सांताक्रुज
कंप्यूटर, मोबाइल केलक्यूलेटर आदि के कारण लोगों की स्मरण शक्ति पर आंशिक रूप से फर्क पड़ा है। मोबाइल फोन आने के बाद लोगों को फोन नंबर याद नहीं रहता। अब हम लोग फोन, केलक्यूलेटर व कंप्यूटर की मेमोरी पर आश्रित हो गए हैं। पहले लोग अभ्यासपूर्वक स्मरण कर, शरीर व मस्तिष्क को एक्टिव रखते थे अब ये इलेक्ट्रॉनिक उपकरण की मेमोरी में उपलब्ध है। अत: कोई याद रखने की कोशिश भी नहीं करता। कंप्यूटर व मोबाइल पर काम करने के कारण मानसिक व नेत्रों की थकान ज्यादा हो जाती है। आप अपनी थकान, तनाव, परेशानी आदि कारणों को अपनी याददाश्त से जोड़ रहे हैं, जबकि ऐसा नहीं है। आपकी याददाश्त कम नहीं हुई है आप अपनी मेमोरी का उपयोग करें। प्राथमिक उपचार के तहत आप स्मृति सागर रस की दो-दो गोली दिन में दो बार गर्म पानी के साथ लें एवं सारस्वतारिष्ट ६-६ चम्मच दो बार समप्रमाण पानी मिलाकर भोजन के बाद पीएं। मन को प्रसन्न रखें, अपने को एक्टिव रखने के लिए योगासन, प्राणायाम व व्यायाम करें। नेत्रों के लिए त्राटक व्यायाम अच्छा है।

एम.डी., पीएच.डी. (आयुर्वेद) प्राध्यापक व वरिष्ठ चिकित्सक, केजी मित्तल पुर्नवसु आयुर्वेद महाविद्यालय व अस्पताल, चर्नी रोड, मुंबई-०२