मुख्यपृष्ठनए समाचारथाईलैंड में गांजा हुआ 'अपराधमुक्त'! खुलेआम होगा उत्पादन एवं उपभोग

थाईलैंड में गांजा हुआ ‘अपराधमुक्त’! खुलेआम होगा उत्पादन एवं उपभोग

  • १० लाख बीज बांटेगी सरकार
  • जश्न में झूम रहे हैं नागरिक

एजेंसी / बैंकॉक
एशिया के ज्यादातर देशों में गांजा का उत्पादन एवं उपभोग अपराध की श्रेणी में आता है। इसको प्रयोग करते हुए पकड़े जाने पर सजा का प्रावधान है। हिंदुस्थान, थाईलैंड एवं कनाडा में इसकी खेती भी बड़े स्तर पर की जाती है। इसके बावजूद इस पर बैन लगा हुआ है। इसी बीच खबर आ रही है कि थाईलैंड में इसे वैध घोषित कर दिया गया है। थाईलैंड सरकार ने इसे नशे की श्रेणी से बाहर कर दिया है। यहां के लोग इसे घर में रख भी सकते हैं और प्रयोग भी कर सकते हैं। देश के स्वास्थ्य मंत्री की योजना गांजा के १० लाख बीजों को बांटने की है, जिसकी शुरुआत शुक्रवार से शुरू भी हो गई। बता दें कि इस फैसले के बाद थाईलैंड एशिया का पहला ऐसा देश बन गया है, जहां चिकित्सा और औद्योगिक इस्तेमाल के लिए गांजे को अपराध से मुक्त करने का फैसला लिया गया है।
मिली जानकारी के अनुसार अब लोग न केवल गांजे की खेती कर सकते हैं बल्कि उसका घर बैठे सेवन भी कर सकते हैं। हालांकि इसके लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा और यह साबित करना होगा कि गांजे का इस्तेमाल चिकित्सकीय उद्देश्य के लिए किया जाएगा। लोगों ने सरकार की इस योजना का जश्न मनाना शुरू कर दिया है। अब लोग कैफे और अन्य दुकानों से अपनी पसंद का विभिन्न फ्लेवरवाला गांजा खरीद रहे हैं। इनमें शुगरकेन, बबलगम, पर्पल अफगानी और यूएफओ शामिल हैं।

मैं गांजा स्मोकर हूं
गांजा को वैध किए जाने के बाद 24 साल के रिटिपॉन्ग बचकुल ने कहा, ‘मैं ये जोर से कह सकता हूं कि मैं गांजा स्मोकर हूं। मुझे पहले की तरह इसे छिपाने की जरूरत नहीं है, जब इसे गैरकानूनी ड्रग माना जाता था।’ सरकार का कहना है कि वह चिकित्सा उद्देश्यों के लिए गांजे का प्रचार कर रही है लेकिन ये भी साफ है कि उसने गांजे को वैध कर दिया है। सरकार को इस बात की जानकारी है कि उसके इस फैसले के फायदे के साथ नुकसान भी होंगे। हालांकि सरकार ने कहा है कि जो लोग गांजे को मनोरंजन के लिए इस्तेमाल करने के बारे में सोच रहे हैं, उनके लिए फैसला है कि सार्वजनिक तौर पर गांजे के सेवन को उपद्रव ही माना जाएगा।

सार्वजनिक जगहों पर पाबंदी
अगर कोई सार्वजनिक स्थान पर गांजा पीते हुए पकड़ा गया तो उसे तीन महीने की जेल की सजा होगी और ७८० डॉलर का जुर्माना देना होगा। इसके साथ ही गांजे से बना तेल और दूसरे सामान में टीएचसी ०.२ फीसदी से ज्यादा हुआ तो गैरकानूनी ही माना जाएगा। ये वो केमिकल है, जो लोगों में काफी ज्यादा नशा कर देता है। ऐसे में यहां आनेवाले पर्यटकों को भी गांजा खरीदने या उसके सेवन से तब तक बचना चाहिए, जब तक सरकार नियमों को साफतौर पर जारी नहीं कर देती।

अन्य समाचार