मुख्यपृष्ठनए समाचारहे राम! मामा के साथ अब भी हो रहा भितरघात! ...शिवराज का...

हे राम! मामा के साथ अब भी हो रहा भितरघात! …शिवराज का नामोनिशान मिटाने के फिराक में भाजपा

सामना संवाददाता / नई दिल्ली
न कुछ सहा जाए और कुछ कहे बगैर रहा भी न जाए… कुछ इसी तरह के हालात मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हो गए हैं। यही वजह है कि भाजपा द्वारा उनके साथ किए जानेवाले दुर्व्यवहार से वे बेहद दुखी हैं और जब भी समय और मौका मिलता है वे अपना दुखड़ा जनता के सामने रख देते हैं।
ये तो अब जगजाहिर है कि उनके साथ पार्टी के भीतर ही `घात’ किया जा रहा है। पहले तो एमपी के सीएम पद से और अब तो पोस्टर से भी उनके नामोनिशान को मिटाने में भाजपा जुटी हुई है। दरअसल, अभी हाल ही में भाजपा के बैनर और पोस्टर से अपनी तस्वीर गायब होने पर `मामा’ का दर्द छलक गया। इस पर अपना दुखड़ा बताते हुए शिवराज ने कहा कि कई लोग ऐसे होते हैं जो रंग देखते हैं, मुख्यमंत्री हैं तो बोलेंगे भाई साहब आपके चरण कमल के समान हैं, लेकिन कुर्सी से हटे तो होर्डिंग्स से फोटो ऐसे गायब करते हैं जैसे गधे के सिर से सींग हो।

अयोध्या नहीं जाएंगे `मामा’
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के मौके पर अयोध्या नहीं जा रहे हैं, उन्होंने खुद यह जानकारी दी। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि २२ जनवरी को सभी लोग अयोध्या जाना चाहते हैं। लेकिन मैं नहीं जाउंगा। उन्होंने कहा कि वे २२ जनवरी को ओरछा में भगवान राम की पूजा-अर्चना करेंगे। वहीं से उस पल के साक्षी बनेंगे। रामराज्य का प्रारंभ हो गया है। उस दिन हम विश्वगुरु बनने की कामना भी करेंगे।

अन्य समाचार