मुख्यपृष्ठनए समाचारखवातीनें करके रहेंगी हिजाब का हिसाब! ...  ईरान का ‘विरोध आंदोलन’ मुंबई...

खवातीनें करके रहेंगी हिजाब का हिसाब! …  ईरान का ‘विरोध आंदोलन’ मुंबई पहुंचा

• ईरानी एक्ट्रेस मंदाना करीमी ने उठाई आवाज
सामना संवाददाता / मुंबई
इस साल के पहले दिन उडपी (कर्नाटक) के एक स्कूल से हिजाब का ‘जिन्न’ बाहर निकला था, जब स्कूल की कुछ मुस्लिम छात्राओं ने स्कूल के ड्रेस कोड के खिलाफ जाकर हिजाब पहनने की जिद को लेकर तूफान मचा दिया था। उसके बाद यह मामला सुखियों में छा गया और अरब व मुस्लिम देशों में यह बताने की कोशिश की गई कि हिंदुस्थान में मुसलमानों का दमन हो रहा है। यह मामला कोर्ट तक पहुंच गया और दोनों पक्षों की ओर से जोरदार दलीलें दी गर्इं। करीब ८ महीने बाद इसके ठीक उलट कट्टर इस्लामी देश ईरान में छात्राएं हिजाब के खिलाफ उठ खड़ी हुर्इं। वहां की सरकार ने बर्बरता से उन छात्राओं का दमन शुरू किया और अभी तक १०० से ज्यादा छात्र-छात्राएं हिजाब विरोधी प्रदर्शनों में मारे जा चुके हैं। इधर ईरानी हिजाब का यह ‘विरोध आंदोलन’ अब मुंबई भी पहुंच चुका है। अब ऐसा लगता है कि खवातीनें इस मामले में पीछे हटने के मूड में नहीं हैं और वे हिजाब का हिसाब करके रहेंगी। मुंबई में रहनेवाली ईरानी अभिनेत्री मंदाना करीमी ने भी हिजाब के विरोध में अपनी आवाज बुलंद कर दी है।
 कल बांद्रा में ईरानी मूल की इस अभिनेत्री ने अकेले खड़े होकर प्रदर्शन किया। अभिनेत्री मंदाना करीमी काले कपड़े पहनकर ईरान में जारी प्रदर्शन को अपना समर्थन देने के लिए अकेले ही हाथों में तख्ती लेकर खड़ी रहीं। थोड़ी ही देर में कई अन्य लोग भी उनके प्रदर्शन में शामिल हो गए।

अन्य समाचार