मुख्यपृष्ठअपराधहिंदू लड़की को पहले पेट्रोल डालकर जलाया! फिर हवालात में जिहादी खिलखिलाया

हिंदू लड़की को पहले पेट्रोल डालकर जलाया! फिर हवालात में जिहादी खिलखिलाया

  • तड़प-तड़प कर तोड़ा पीड़िता ने दम

सामना संवाददाता / रांची
फरीदाबाद के कॉलेज में पढ़नेवाली हिंदू छात्रा की तर्ज पर एक और हिंदू बेटी जिहादी हैवानियत का शिकार बन गई। हरियाणा के फरीदाबाद में बीए अंतिम वर्ष में पढ़नेवाली हिंदू छात्रा ने तौसीफ से निकाह का प्रस्ताव ठुकराया तो हैवान बने तौसीफ ने उसे कॉलेज के गेट के पास ही गोली मार दी थी। अब उसी तर्ज पर झारखंड में दुमका जिले में १७ वर्षीया किशोरी को उसी के मुहले में रहनेवाले शाहरुख हुसैन ने मौत के घाट उतार दिया। शाहरुख ने घर में सोते समय खिड़की से पेट्रोल डालकर पीड़िता को जला दिया। झकझोरनेवाली बात ये है कि अस्पताल में पीड़िता ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया, जबकि पुलिस हिरासत में हत्यारा शाहरुख बेशर्मी से हंसता नजर आया। उससे भी शर्म की बात ये है कि ये घटना हिंदुत्व और हिंदुओं की रक्षा के नाम पर सियासत करनेवाले पीएम नरेंद्र मोदी की भाजपाई सरकार के राज में हुआ हैं।
बता दें कि दुमका के जरुआडीह मोहल्ले में रहनेवाली जिंदा जलाई गई पीड़िता सिंह पर सिरफिरा शाहरुख फोन पर बात करने के लिए दबाव बना रहा था। पीड़िता नहीं मानी तो उसके घर में घुसकर शाहरुख ने पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी। पीड़िता को हॉस्पिटल ले जाया गया जहां पांच दिन से वह जिंदगी के लिए जंग लड़ने के बाद मौत से हार गई। इस बीच शाहरुख का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें पुलिस की हिरासत में वह मुस्कुराते नजर आ रहा है। ट्विटर पर शेयर किए गए शाहरुख की ‘बेशर्म हंसी’ के वीडियो से साफ प्रतीत होता है कि उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है।’
दो साल से सता रहा था शैतान
पीड़िता पिछले करीब २ वर्षों से शाहरुख की प्रताड़ना से परेशान थी। शाहरुख की छवि मोहल्ले में एक आवारा किस्म के लड़के की थी, जो हर मुहल्ले की हर लड़की और महिला पर डोरे डालने और उसे प्रेम जाल में फांसने का प्रयास करता था। बस्ती में मुसलमानों के वर्चस्व एवं शाहरुख की आपराधिक पृष्ठभूमि के कारण लोग विरोध करने से कतराते थे, जिसकी कीमत पीड़िता ने अपनी जान देकर चुकाई। हालांकि फरीदाबाद की हिंदू छात्रा की तरह पीड़िता के घर वालों ने भी पुलिस की मदद लेने की कोशिश की थी लेकिन तब शाहरुख के बड़े भाई द्वारा माफी मांगने पर पीड़िता के परिजनों ने शिकायत नहीं की थी। शाहरुख के भाई ने यह विश्वास भी दिलाया कि अब उसका भाई पीड़िता को कभी परेशान नहीं करेगा। थोड़े दिनों तक सब ठीक-ठाक चलता रहा, लेकिन फिर शाहरुख बदमाशी पर उतर आया। उसने पीड़िता को फिर परेशान करना शुरू कर दिया था और करीब १५ दिनों से उसे रोज धमकी दे रहा था। २२ अगस्त को उसने फोन पर धमकी देने के बाद २३ अगस्त को अपनी धमकी को सच कर दिखाया।

अन्य समाचार