मुख्यपृष्ठटॉप समाचारजीएमएलआर देगा... ट्रैफिक को टक्कर!

जीएमएलआर देगा… ट्रैफिक को टक्कर!

• पर्यावरण, वन वैभव को बचाते हुए सतत विकास पर जोर -पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे
सामना संवाददाता / मुंबई
मनपा व एमएमआरडीए क्षेत्र के लोगों की मूलभूत जरूरतों को ध्यान में रखते हुए मुंबई में विभिन्न बुनियादी ढांचागत परियोजनाओं का विकास करना आवश्यक है, लेकिन परियोजनाओं पर काम करते समय मुंबई में पर्यावरण व वन वैभव को भी बरकरार रखना जरूरी है। ऐसे में राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार और मनपा मुंबई में पर्यावरणपूरक परियोजनाओं को तेजी से पूरा कर रही है। ये बातें राज्य के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड परियोजना के तहत प्रस्तावित फ्लाई ओवर के भूमिपूजन के अवसर पर कहीं।
आदित्य ठाकरे ने उक्त परियोजना के तहत किए जा रहे कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि संजय गांधी राष्ट्रीय पार्क के जानवरों, वृक्षों और जीव जंतुओं को नुकसान न हो, इसके लिए भूमिगत सुरंग का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पर्यावरणपूरक परियोजनाओं के साथ मुंबई और एमएमआरडीए क्षेत्र में सतत विकास होगा। पर्यावरण मंत्री ने स्थानीय लोगों के लिए परियोजना की विशेषताओं की बेहतर जानकारी देने हेतु मनपा को ‘गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड परियोजना’ पर एक विशेष प्रदर्शनी आयोजित करने का भी निर्देश दिया।
भांडुप-पश्चिम क्षेत्र में डॉक्टर हेडगेवार जंक्शन के पास ’श्रीमती गोदावरी धोंडीराम पाटील मैदान’ में यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था। आदित्य ठाकरे ने जीएमएलआर परियोजना फ्लाई ओवर का यहां भूमिपूजन किया। इस मौके पर स्थानीय विधायक रमेश कोरगांवकर एवं सुनील राऊत, मनपा अतिरिक्त आयुक्त पी. वेलारसु, उपायुक्त राजेंद्र कुमार तलकर, उपायुक्त देवीदास क्षीरसागर आदि उपस्थित थे।
होंगी तीन सुरंगें
दादासाहेब फालके फिल्मसिटी क्षेत्र के पास १.६० किमी लंबी पहली सुरंग होगी, दूसरी सुरंग संजय गांधी नेशनल पार्क में लगभग ४ किमी लंबी होगी और गोरेगांव ओबेराय के पास वेस्टर्न हाइवे के नीचे से तीसरी सुरंग होगी।
सड़कें चौड़ी होंगी
गोरेगांव साइड रोड को ओबेरॉय मॉल से फिल्म सिटी, मुलुंड की तरफ ‘तानसा पाइपलाइन’ से ‘ईस्ट एक्सप्रेसवे जंक्शन’ और नाहुर रेलवे फ्लाई ओवर को चौड़ा करने का कार्य प्रगति पर है।
साइकिल ट्रैक
गोरेगांव-मुलुंड जंक्शन रोड पर खिंडीपाड़ा में भांडुप वाटर ट्रीटमेंट प्लांट रोड पर स्थानीय यातायात के लिए उच्च स्तरीय साइकिल ट्रैक प्रस्तावित है। इस काम में एक पैदल यात्री पुल भी शामिल है।
चार फ्लाई ओवर
गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड पर संभावित यातायात को ध्यान में रखते हुए दिंडोशी कोर्ट से संतोष नगर चौक तक १.२९ किमी लंबा ३ लेन का फ्लाई ओवर बनाया जाएगा। तानसा पाइपलाइन से नाहुर रेलवे ब्रिज तक ३ लेन का १.८९ किमी लंबा फ्लाई ओवर बनाया जाएगा। डॉक्टर हेडगेवार चौक पर १२० मीटर का पुल ‘केबल स्टे’ के रूप में प्रस्तावित है। एक पुल मुंबई मेट्रो लाइन ४ के नीचे से प्रस्तावित है।

परियोजना की मुख्य विशेषताएं
१२.२ किमी लंबी गोरेगांव-मुलुंड लिंक रोड (जीएमएलआर) परियोजना पूर्व-पश्चिम उपनगरों को जोड़नेवाली चौथी परियोजना है। यह परियोजना वेस्टर्न एक्सप्रेस-वे, गोरेगांव में ओबेरॉय मॉल से ईस्ट एक्सप्रेस-वे, मुलुंड में ऐरोली नाका तक होगी। इसके तहत ५ लेन की सड़कें होंगी। इस परियोजना पर कुल ८,५०० करोड़ रुपए तक खर्च होंगे।

अन्य समाचार