मुख्यपृष्ठसमाचारघर का सपना हुआ सच ; जुलाई में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन की...

घर का सपना हुआ सच ; जुलाई में प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन की बहार! ११ हजार से अधिक लोगों ने खरीदा घर

सामना संवाददाता / मुंबई
कोरोना काल के बाद एक बार फिर रियल एस्टेट खड़ा होने लगा है। नाइट फ्रैंक  इंडिया के आंकड़ों के अनुसार जुलाई में मुंबई में संपत्तियों के रजिस्ट्रेशन में १५ प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। जुलाई महीने में मुंबई में ११ हजार से भी ज्यादा प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन की बहार आई है। इतने भारी संख्या में हुए रजिस्ट्रेशन से एक बार फिर ये साबित हो गया है कि मुंबईकरों के घर का सपना सच हुआ है। जानकारों की मानें तो प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन के मामले में इस साल का जुलाई महीना पिछले एक दशक में सबसे अच्छा था। पंजीकरण ने राज्य के राजस्व में ८३९ करोड़ रुपए से अधिक का योगदान दिया। महीने-दर-महीने के आधार पर संपत्तियों का पंजीकरण इस साल जून से १४ प्रतिशत बढ़ा है। जून में ९,९१९ प्रॉपर्टी का रजिस्ट्रेशन हुआ था। मुंबई में रजिस्टर कुल प्रॉपर्टियों में से ८६ प्रतिशत आवासीय और १० प्रतिशत कॉमिर्शियल हैं। साद रियलिटी ग्रुप ऑफ वंâपनीज के सीईओ उस्मान कुरेशी ने बताया कि मुंबई में घरों की वास्तविक मांग है, क्योंकि हम देख सकते हैं कि संपत्ति की कीमतों में वृद्धि ने रियल एस्टेट बाजार को प्रभावित नहीं किया है। इसके अलावा, रेपो दर में लगातार बढ़ोतरी आरबीआई ने किसी भी और बदलाव से पहले घर खरीदारों को अपने खरीद निर्णय को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया है। इससे मौजूदा अवधि में मजबूत मांग और सकारात्मक घर-खरीद की भावना पैदा हुई है, जो इस क्षेत्र के विकास को आगे बढ़ाना जारी रखना चाहिए।

अन्य समाचार