मुख्यपृष्ठखबरेंमहाराष्ट्र में सजेगा घोड़ो का बाजार, मचेगी 'चेतक फेस्टिवल' की धूम  

महाराष्ट्र में सजेगा घोड़ो का बाजार, मचेगी ‘चेतक फेस्टिवल’ की धूम  

मुंबई: दक्षिणी महाराष्ट्र के नंदुरबार जिले में स्थित सारंगखेड़ा शहर में हर दिसंबर को एक लाजवाब मनमोहक पारंपरिक उत्सव ‘चेतक  फेस्टिवल’ मनाया जाता है, जिसका इन्तजार लोगों को पूरे साल रहता है। पिछले साढ़े तीन सौ साल से अधिक समय से चले आ रहे इस पारंपरिक महोत्सव ने गहरी ऐतिहासिक जड़ें जमाईं हैं,  जिसकी बदौलत देश-विदेश के हर हिस्से से लोग यहाँ पहुंचते हैं। ‘चेतक फेस्टिवल’ घोड़े का एक ऐसा मेला है जिसमें भाग लेने वाले अश्व प्रेमी अपनी शान समझते हैं. इस महोत्सव ने कई वर्षों से सभी लोगों के दिलों और कल्पनाओं को मंत्रमुग्ध कर दिया है। इस उत्सव में देश भर से लोग विविध वेरायटी के घोड़े लेकर यहाँ घोडा प्रदर्शनी के लिए पहुंचते हैं। साथ ही यहाँ घुड़सवारों सहित अन्य लोगों के लिए विभिन्न प्रतियोगिताओं और मनोरंजक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। आयोजक विशाल गंजू की माने तो इस वर्ष 21 दिसंबर, 2023 से 7 जनवरी, 2024 तक यह उत्सव ‘चेतक फेस्टिवल’ आयोजित किया जाएगा। विभिन्न क्षेत्रों के लगभग 2,500 घोड़ों का प्रदर्शन किया जाएगा, जो अपनी भव्यता से दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए तैयार होंगे।

महाराष्ट्र के आराध्य दैवत छत्रपति शिवाजी महाराज के युग से यह महोत्सव लगातार जारी है। अनोखे महोत्सव की शुरुआत से ही इसमें घोड़े के प्रति लगाव रखने वाले अश्व प्रेमी किसानों, व्यापारियों और निज़ाम सहित देश के प्रतिष्ठित  व्यक्तियों को आकर्षित किया। ये सभी लोग घोडा की खरीददारी के लिए अक्सर सारंगखेड़ा आते थे। तापी नदी के पास स्थित यह स्थान बलूचिस्तान, अरब और भारत के विभिन्न क्षेत्रों से घोड़ों की मेजबानी के लिए आदर्श रूप से उपयुक्त माना जाता रहा है।

अन्य समाचार