मुख्यपृष्ठनए समाचारनाबालिगों को शराब पिलाई तो होटल का लाइसेंस होगा रद्द! ...पुणे कांड...

नाबालिगों को शराब पिलाई तो होटल का लाइसेंस होगा रद्द! …पुणे कांड के बाद ठाणे पुलिस ने जारी किए दिशा-निर्देश

सामना संवाददाता / ठाणे
पुणे में घटित बहुचर्चित पोर्शे कार हिट एंड रन मामले के बाद अब मुंबई और ठाणे का एक्साइज विभाग, ट्रांसपोर्ट और पुलिस सिस्टम भी चौकन्ना हो गया है। नियम के अनुसार, २१ साल से कम उम्र के लोगों को शराब परोसना गैरकानूनी है, लेकिन कुछ जगहों पर पाया गया कि इस नियम का खुलेआम उल्लंघन कर नाबालिकों को शराब बेची और परोसी जा रही है। आबकारी विभाग के औचक निरीक्षण में कई जगहों पर नाबालिग शराब पीते हुए पाए गए।

नियमों का उल्लंघन करना पड़ेगा भारी
पिछले पांच वर्षों में ठाणे शहर और आस-पास के इलाकों में शराब पीकर नाबालिगों द्वारा एक्सीडेंट करने के कई मामले सामने आ चुके हैं। मिली जानकारी के अनुसार, ठाणे जिले में १ हजार ४५० होटल और बार हैं। पुणे की घटना के बाद अब सख्ती की गई है। अगर किसी बार या वाइन शॉप में किसी नाबालिग को शराब परोसी गई या बेची गई तो उसका लाइसेंस रद्द किया जा सकता है, ऐसा आदेश उत्पाद शुल्क विभाग के आयुक्त विजय सूर्यवंशी की तरफ से जारी किया गया है।
कई मामले आए सामने 
राज्य उत्पाद शुल्क विभाग की तरफ से २४ मई की रात को ढोकली में आर मॉल के पास होटल यलो बनाना में निरीक्षण किया गया। इसमें दो नाबालिग लड़कियां बीयर पीती हुई पाई गर्इं। इसके अलावा यह पाया गया कि बिना लाइसेंस के ही ग्राहकों को शराब बेची जा रही थी। सूत्रों ने बताया कि इस गड़बड़ी को लेकर होटल के मैनेजर के खिलाफ कार्रवाई की गई। इसके अलावा जब वर्तकनगर में एक शराब की दुकान का दौरा किया गया तो कुछ नाबालिग भी शराब बेचते पाए गए, जबकि नौपाड़ा में एक बार में प्रवेश करने वाले एक नाबालिग से कर्मचारियों ने उसकी उम्र के बारे में शराब लाइसेंस और आधार कार्ड के बारे में पूछताछ की।

क्या कहता है प्रशासन?
शराब का लाइसेंस २१ वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति को जारी किया जाता है। लाइसेंस जारी करते समय निवास प्रमाण पत्र, फोटो, ऑनलाइन आवेदन भरा जाता है। शराब का लाइसेंस आजीवन लाइसेंस के लिए १,००० रुपए और एक दिन के लिए ५ रुपए शुल्क पर जारी किया जाता है लेकिन अगर २१ साल से कम उम्र के व्यक्ति को शराब बेचते हुए पाया गया तो संबंधित होटल और बार के खिलाफ कार्रवाई की जाती है और कुछ मामलों में लाइसेंस भी रद्द कर दिया जाता है। पिछले दो दिनों में जिले में नाबालिगों को शराब पिलाने वाले आठ होटलों और बारों पर कार्रवाई की गई है।
– डॉ. नीलेश सांगाडे, अधीक्षक, राज्य उत्पाद शुल्क विभाग, ठाणे

अन्य समाचार