मुख्यपृष्ठसमाचारराजस्थान में कैसे आए दिन... कमरा एक, कक्षाएं तीन!

राजस्थान में कैसे आए दिन… कमरा एक, कक्षाएं तीन!

-कलेक्टर के पहुंचने पर खुली पोल

सामना संवाददाता / जयपुर

राजस्थान में भाजपा की सरकार बनते ही गजब के दिन आ गए हैं। राज्य के नए शिक्षा मंत्री मदन दिलावर प्रदेश में शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए नवाचार कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर प्रदेश के स्कूलों का हाल ऐसा है कि एक ही कमरे में दो-तीन कक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। कहीं पर्याप्त भवन नहीं है तो कहीं खेल मैदान का अभाव है। इसकी पोल तब खुली, जब ब्यावर जिला कलेक्टर उत्सव कौशल जिले के स्कूलों का दौरा करने पहुंचे।
मिली जानकारी के अनुसार, ब्यावर कलेक्टर उत्सव कौशल जिले के देलवाड़ा गांव में राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय एवं राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय का औचक निरीक्षण करने पहुंचे। यहां एक ही भवन में दो स्कूलों का संचालन हो रहा था। इतना ही नहीं, एक कमरे में दो-तीन कक्षाओं के बच्चे साथ बैठकर पढ़ रहे थे। पहली, दूसरी और पांचवीं क्लास के विद्यार्थी एक ही कमरे में साथ बैठे थे। दूसरे कमरे में तीसरी और चौथी कक्षा के बच्चों को बीएड इंटर्नशिप कर रही ट्रेनी टीचर आरती गणित पढ़ा रही थी। देलवाड़ा पंचायत समिति सदस्य व उपप्रधान पारी देवी ने शिक्षा व्यवस्था पर नाराजगी जताते हुए कहा कि गांव में गर्ल्स स्कूल के लिए पर्याप्त भवन नहीं है। ऐसे में अभी एक ही भवन में दो स्कूलों का संचालन हो रहा है। खेल मैदान भी नहीं है। ऐसे में न तो शिक्षण कार्य सुचारु हो रहा है और न ही खेल प्रतिभा विकसित हो रही है।

अन्य समाचार