मुख्यपृष्ठखेलमुझे कोई पछतावा नहीं

मुझे कोई पछतावा नहीं

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर को बांग्लादेश में अंपायर और फिर बांग्लादेशी टीम के साथ बदसलूकी करनी भारी पड़ी। आईसीसी ने हरमनप्रीत पर कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें दो अंतर्राष्ट्रीय मैचों के लिए बैन कर दिया। ऐसे में अब आगामी एशियन गेम्स में क्वार्टर फाइनल और सेमीफाइनल मैच नहीं खेल पाएंगी। हालांकि, इस पूरे मामले पर भारतीय कप्तान ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि ढाका में बांग्लादेश के खिलाफ तीसरे वनडे के दौरान उन्हें अपना आपा खोने पर कोई पछतावा नहीं है। बता दें कि ढाका में अंपायर के उन्हें आउट देने के बाद उन्होंने स्टंप पर बल्ला मार दिया था। मैच के बाद भी उन्होंने बायलेटरल सीरीज के दौरान हुई अंपायरिंग को खराब बताया था। साथ ही प्रजेंटेशन सेरेमनी के दौरान बांग्लादेशी टीम के साथ बदसलूकी भी की थी। इसके बाद उन पर प्रतिबंध लगाया गया था। हरमनप्रीत ने महिलाओं के द हंड्रेड के दौरान एक इंटरव्यू में कहा कि मैं नहीं कहूंगी कि मुझे किसी चीज का कोई पछतावा है क्योंकि, बतौर खिलाड़ी आप ये देखना चाहते हैं कि चीजें ठीक चल रही हैं या नहीं। खिलाड़ी के रूप में आपके पास हमेशा खुद को अभिव्यक्त करने यानी कि आप क्या महसूस कर रहे हो, ये बताने का अधिकार होता है।

अन्य समाचार