मुख्यपृष्ठग्लैमर‘मैं उसे छोड़ूंगा नहीं!’ -अर्जुन

‘मैं उसे छोड़ूंगा नहीं!’ -अर्जुन

बीते दिनों एक्ट्रेस और राज्यसभा सांसद जया बच्चन सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल हो गई थीं, जिसकी वजह से वे बेहद गुस्से में दिखाई दे रही थीं क्योंकि ‘महाभारत’ में अर्जुन का किरदार निभानेवाले फिरोज खान के नाम से किसी ने फर्जी प्रोफाइल बना रखी है और उसने फर्जी ट्विटर अकाउंट से जया बच्चन के लिए गलत भाषा का प्रयोग करते हुए एक मैसेज लिख दिया था। इसके बाद भी उस प्रोफाइल से कई लोगों को गलत मैसेज किए जा चुके हैं। इस मामले को लेकर फिरोज खान ने एक वीडियो जारी करते हुए खंडन किया है कि वह मेरा प्रोफाइल नहीं हैं, कोई शरारती तत्व मेरे नाम से लोगों को परेशान कर रहा है। पेश है, अर्जुन से योगेश कुमार सोनी की हुई बातचीत के प्रमुख अंश-

आपके नाम की प्रोफाइल बनाकर कोई आपकी छवि को धूमिल कर रहा है?
मैं अमिताभ बच्चन और उनकी  फैमिली की काफी इज्जत करता हूं। जिस अकाउंट से जया बच्चन को ट्वीट किया गया, असल में वो फेक अकाउंट है। एक शख्स द्वारा फेक ट्विटर आईडी बनाकर मेरे नाम का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है। वो ऐसा क्यों कर रहा है, मुझे नहीं पता लेकिन मैं उसको छोड़ूंगा नहीं। जया जी मेरी मां समान भाभी हैं, मैं उनका बहुत सम्मान करता हूं।
वह अकाउंट अभी तक ब्लॉक नहीं किया गया। क्या आपने अभी तक उस पर कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की?
मैंने साइबर क्राइम में शिकायत दे दी है और मेरे वकील बहुत जल्दी उस शख्स पर एफआईआर दर्ज करवाएंगे। दरअसल, मैं बीते कुछ दिनों से लगातार व्यस्त हूं लेकिन मैं जल्द ही मुंबई पहुंचकर इस पर कड़ा एक्शन लेता हूं। ऐसे लोग दुनिया के लिए नासूर होते हैं। उन्हें लगता है कि वे बहुत होशियार हैं लेकिन हकीकत में वे महामूर्ख हैं। मैं फिर से पुलिस से भी जल्दी बात करूंगा।
क्या आपको लगता है कि इससे आपकी छवि धूमिल हो रही है?
अब लोगों को पता लग चुका है कि वह मेरा अकाउंट नहीं है। मेरे से जुड़ा हर इंसान मुझे बेहतर तरीके से जानता है कि मैं कभी किसी के लिए न तो गलत लिखता हूं और न ही बोलता हूं। मैं एक सकारात्मक सोच रखनेवाला इंसान हूं इसलिए मैं अब निश्चिंत हूं कि लोग मेरे बारे में गलत नहीं सोचेंगे। मुझे लोगों ने इतना प्यार दिया है कि मुझे किसी भी प्रकार से परवाह करने की जरूरत नहीं है।
आपके तमाम दोस्तों ने बताया कि शूटिंग के दौरान सबसे ज्यादा आप शरारत करते थे। क्या यह बात सच है?
जी हां, सही सुना है। रवि चोपड़ा सर मुझे बहुत प्यार करते थे लेकिन सेट पर बहुत सख्त होते थे। किसी भी बात का उल्लंघन करने पर जुर्माना तय किया हुआ था और पूरी ‘महाभारत’ में सबसे ज्यादा जुर्माना मैंने दिया है। शायद ही कोई ऐसा एपिसोड हो, जिसमें मुझे फाइन न लगा हो। इस बात पर मैंने रवि सर को कहा था कि आप बहुत फाइन डायरेक्टर हो। उन्होंने पूछा- वैâसे? तो इस पर मेरा उत्तर था कि आप सबसे ज्यादा फाइन काटते हो। वो यह सुनकर बहुत हंसे थे।
 आपका नाम अर्जुन वैâसे पड़ा और आपने दोबारा किसी भी धार्मिक रोल को करने से मना क्यों कर दिया था?
यदि मैं किसी भी धार्मिक धारावाहिक में काम करता तो लोग मुझे किसी और पात्र की भूमिका में नहीं स्वीकारते क्योंकि पूरे देश की निगाह में मैं अर्जुन ही बन गया था और मैं दोबारा एक जैसा काम करने में विश्वास भी नहीं रखता। मैंने अपने करियर में २६० से ज्यादा फिल्में की हैं। जिसमें अलग-अलग तरह के रोल किए हैं। दरअसल, मामला यह था कि ‘महाभारत’ के पटकथा और संवाद लेखक डॉ. राही मासूम रजा ने मुझसे कहा था हजारों लोगों के बाद तुम्हारा अर्जुन के पात्र के लिए सिलेक्शन हुआ है, तो अब तुम्हारा नाम अर्जुन ही होना चाहिए। तुम लगते भी अर्जुन जैसे हो और इंडस्ट्री में भी कोई इस नाम से नहीं है। अर्जुन नाम ने मुझे बहुत कुछ दिया है, जिसका मैं हमेशा ऋणी रहूंगा।

अन्य समाचार