मुख्यपृष्ठनए समाचारआईबी को मिला आतंकी हमले का इनपुट ... अयोध्या में राम मंदिर...

आईबी को मिला आतंकी हमले का इनपुट … अयोध्या में राम मंदिर की बढ़ी सुरक्षा!

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ
आईबी को गुप्त सूत्रों से जानकारी मिली कि अयोध्या के राम मंदिर के उद्घाटन २२ जनवरी २०२४ से पहले कई आतंकी संगठन आतंकी हमले की फिराक में हैं। इसके साथ आईबी और जांच एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। मंदिर की सुरक्षा के लिए एटीएस और एसटीएफ के अलावा केंद्रीय सुरक्षाबलों की विभिन्न कंपनियों को तैनात किया गया है। ६ लेयर की सुरक्षाकड़ी इतनी अभेद्य है कि वहां परिंदा भी पर नहीं मार सकता। अभी तक कई बार अयोध्या में संदिग्ध पकड़े गए हैं। ५ जुलाई २००५ को एके ४७ व रॉकेट लॉन्चर लेकर पांच आतंकियों ने श्रीराम जन्मभूमि परिसर में हमला किया था। सुरक्षा में तैनात जवानों ने सभी पांचों को मौत के घाट उतार दिया था।

अयोध्या बॉर्डर पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था
खबर है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और लश्करे-ए-तैैयबा जैसे कई आतंकी संगठन अयोध्या में हमले की फिराक में हैं। अब तक यूपी एसटीएफ और एटीएस ने दर्जनभर आतंकियों को पकड़ा है। कौशांबी, बलरामपुर, श्रावस्ती और अयोध्या के आस-पास एक्टिव हुए आतंकियों की गिरफ्तारी हुई है। इस बीच शनिवार को अयोध्या में होने वाले भव्य दीपोत्सव से पहले गोंडा जिला प्रशासन पूरी तरीके से अलर्ट मोड पर है। सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद करने के लिए अयोध्या बॉर्डर पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था लगाई गई है। कई थाना अध्यक्षों और पुलिस कर्मियों की ड्यूटी भी लगाई गई है, ताकि बिना कोई पासधारक व्यक्ति अयोध्या की सीमा में गोंडा से प्रवेश न कर सके और कोई भी संदिग्ध व्यक्ति अगर दिखाई देता है तो उसे पकड़ करके उससे पूछताछ की जाए। उधर बस्ती रेंज में भी भारत-नेपाल सीमा के बॉर्डर एरिया में एसएसबी और स्थानीय पुलिस की पैट्रोलिंग बढ़ा दी गई है। आवश्यकता पड़ेगी तो बॉर्डर सील किया जा सकता है। सरयू नदी में जल पुलिस के जवान उतार दिए गए हैं।

अन्य समाचार